राज्यब्यूरो,लखनऊ:सपाकेराष्ट्रीयअध्यक्षवपूर्वमुख्यमंत्रीअखिलेशयादवनेभाजपाकेएकमंत्रीद्वाराआंदोलनकारीकिसानोंकोमवालीकहनेपरकड़ीप्रतिक्रियाव्यक्तकीहै।उन्होंनेट्वीटकियाकि'भाजपाकेएकमंत्रीद्वाराआंदोलनकारीकिसानोंकोमवालीकहाजानामानसिकदिवालियापनहै।यहदेशकीदोतिहाईजनसंख्याहीनहीं,बल्किपूरेदेशकाअपमानहै।उन्होंनेकहाकिकिसानोंकाउगायाअनाजखानाभाजपाईबंदकरदें।'वहीं,अखिलेशसेगुरुवारकोशिक्षकभर्तीकेआंदोलनरतअभ्यर्थियोंनेभेंटकी।

उन्होंनेकहाकिशिक्षकभर्तीकीजारीचयनसूचीमेंअनियमितताकीवजहसेअन्यपिछड़ेवर्गकेलगभग15हजारअभ्यर्थियोंकोचयनप्रक्रियासेबाहरकरदियागयाहै।अभ्यर्थियोंनेबतायाकि22मई2021सेअभीतकवेधरना-प्रदर्शनकररहेहैं,शासन-प्रशासनकोईसुनवाईनहींकररहाहै।अपनेहककीआवाजउठानेपरउनपरलाठियांबरसाईगई।

अखिलेशयादवनेअभ्यर्थियोंसेकहाकिभाजपासामाजिकन्यायकेविरूद्धषडयंत्रकररहीहै।जिनकाहकहैउनकोवंचितकियाजारहाहै।भाजपाकभीनिष्पक्षढंगसेकामनहींकरसकतीहै।वहकिसीकोहकऔरसम्माननहींदेनाचाहतीहै।वहलोगोंकोप्रताडि़तकरतीहै।अभ्यर्थियोंकीसमस्याकेसमाधानकेबजायभाजपासरकारउन्हेंडराने-धमकानेकाकामकररहीहै।उसकायहकृत्यअलोकतांत्रिकऔरअन्यायपूर्णहै।