लखनऊ[आशीषत्रिवेदी]। उत्तरप्रदेशमें अबगरीबभीकारपोरेटअस्पतालोंमेंमुफ्तइलाजकरासकेंगे। आयुष्मानभारतप्रधानमंत्रीजनआरोग्ययोजनाकेलाभार्थियोंकोराजधानीलखनऊकेअपोलोऔरसहाराअस्पतालमेंमुफ्तइलाजकीसुविधामिलेगी।जल्दहीआयुष्मानयोजनाकालाभराजधानीमेंस्थितमेदांताअस्पतालमेंभीदिलायाजाएगा।

उत्तरप्रदेशमेंकुल2773अस्पतालोंमेंआयुष्मानयोजनाकेलाभार्थियोंकोमुफ्तइलाजकीसुविधादीजारहीहै।एकपरिवारकोएकवर्षमेंपांचलाखरुपयेतककेइलाजकीसुविधादीजातीहै।अभीतककुलसाढ़ेआठलाखसेअधिकमरीजोंकेइलाजपरकरीब983करोड़रुपयेसरकारनेखर्चकिएजाचुकेहैं।

स्टेटएजेंसीफारकांप्रिहेंसिवहेल्थएंडइंटीग्रेटेडसर्विसेज(साचीस)कीसीईओसंगीतासिंहनेबतायाकिज्यादासेज्यादाकारपोरेटअस्पतालोंकोइसयोजनासेजोड़नेकीकोशिशकीजारहीहै।कारपोरेटअस्पतालोंमेंगरीबलोगोंकोबेहतरइलाजमिलसकेइसपरजोरदियाजारहाहै।तमामप्राइवेटअस्पतालइसयोजनाकालाभदेरहेहैं।23सितंबर2018कोयहयोजनाशुरूहुईथी।

अस्पतालोंके90प्रतिशततकक्लेमकाभुगतानकियाजाचुकाहै।अंत्योदयके40लाखपरिवारोंकोजोडऩेकेबादअबलाभार्थियोंकीकुलसंख्या7.60करोड़है।अबतक1.76करोड़आयुष्मानकार्डबनाएजाचुकेहैं।इसयोजनाकालाभउठानेवालोंमें57प्रतिशतपुरुषव43प्रतिशतमहिलाएंशामिलहैं।इलाजपरहोनेवालेखर्चका60प्रतिशतकेंद्रसरकारव40प्रतिशतहिस्साराज्यसरकारदेतीहै।

आयुष्मानभारतप्रधानमंत्रीजनआरोग्ययोजनाकेतहतलोगोंकोसालानापांचलाखरुपयेतकमुफ्तइलाजमिलताहै।इसयोजनाकाफायदाउठानेकेलिएकार्डबनवानाजरूरीहै।कार्डकोबनवानेकेलिएजरूरीपात्रताभीनिर्धारितकीगईहै।योजनाकालाभलेनेकेलिएप्रधानमंत्रीजनआरोग्ययोजनाकीआधिकारिकवेबसाइटmera.pmjay.gov.inपरजरूडॉक्यूमेंटअपलोडकरनेहोतेहैं।यदिआपइसयोजनाकेलिएपात्रहैंतोआयुष्मानभारतप्रधानमंत्रीजनआरोग्ययोजनाकीओरसेआयुष्मानकार्डजारीकरदियाजाएगा।