शिवानंदद्विवेदी। पिछलेसालउत्तरप्रदेशमेंविधानसभाचुनावसाहितकईअन्यराज्योंमेंमिलीप्रचंडजीतकेबादअप्रैल2017मेंओडिशामेंहुईभाजपाकीराष्ट्रीयकार्यकारिणीबैठकमेंअमितशाहनेएकबयानदियाथा,जोउससमयसुर्खियोंमेंछायारहा।भाजपाकार्यकर्ताओंसेउससमयअमितशाहनेकहाथाकियहजीतबड़ीहै,लेकिनयहभाजपाकास्वर्णकालनहींहै।उन्होंनेकहाकिभाजपाकास्वर्णकालतबआयेगाजबवहपश्चिमबंगालऔरकेरलजैसेराज्योंमेंसत्तामेंआएगी।इसतथ्यसेज्यादातरलोगसहमतहोंगेकिअमितशाहअगरकुछबोलतेहैंतोउसकेपीछेउनकीठोसरणनीतिहोतीहै।भाजपाअध्यक्षकेउसबयानकोपश्चिमबंगालकीवर्तमानराजनीतिकपरिस्थितियोंकेकेंद्रमेंरखकरसमझनेकीजरूरतहै।

पश्चिमबंगालकीराजनीतिपश्चिमबंगालकीराजनीतिमेंगतएकडेढ़वर्षमेंसबसेबड़ापरिवर्तनयहआयाहैकिसत्ताधारीतृणमूलकांग्रेसकेसामनेसर्वाधिकमुखरविपक्षकीभूमिकामेंभाजपाखुदकोस्थापितकरनेमेंसफलहोतीदिखरहीहै।परिवर्तनकीयहआहटपश्चिमबंगालकीराजनीतिमेंकिसतरहकाबदलावलानेजारहीहैइसकासटीकआकलनकरनाअभीथोड़ाकठिनअवश्यहै,किंतुइसमेंकोईदोरायनहींकिभाजपावहांसर्वाधिकमुखरविपक्षबनतीजारहीहै।पश्चिमबंगालकीराजनीतिमेंभाजपाकीभूमिकाप्रभावीदलकेरूपमें2014केआमचुनावसेपहलेनहींमानीजातीथी।वर्ष2014केलोकसभाचुनावमेंभाजपाकोबंगालसेनकेवलदोलोकसभासीटोंपरजीतमिलीबल्कि17फीसदसेज्यादावोटहासिलहुए।इसकेबावजूदभाजपाकोचौथेपायदानकीपार्टीहीमानागया।

ममताबनर्जीकाबंगालकीसत्तापरकब्जादशकोंकेकम्युनिस्टशासनकोउखाड़करममताबनर्जीनेबंगालकीसत्तापरकब्जाकिया,लिहाजाउनकेप्रथमराजनीतिकविरोधीकम्युनिस्टबनेरहे।बंगालकीराजनीतिमेंकांग्रेसलंबेसमयसेसत्तासेबाहरथीऔरतृणमूलकांग्रेसकेउभारकेबादतोतीसरेपायदानपरखिसकगयीथी।इसकेपीछेमूलवजहकांग्रेसकीअवसरवादीऔरअस्थिरराजनीतिरही।अगरदेखाजाएतोगठबंधनकीसियासतमेंकांग्रेसकभीतृणमूलतोकभीवामदलोंकेसाथखड़ीनजरआई।साल2011केबंगालविधानसभाचुनावकेदौरानममताबनर्जीकीपार्टीतृणमूलकांग्रेसयूपीएकाहिस्साथी,लिहाजावहचुनावकांग्रेसकेसाथगठबंधनमेंलड़ी।2014मेंलोकसभाचुनावकेबादजबयूपीएकीसरकारकेंद्रमेंनहींरहीऔर2016मेंबंगालविधानसभाचुनावहुएतोकांग्रेसकम्युनिस्टपार्टीकेसाथखड़ीनजरआई।हालांकिइनचुनावोंमेंकम्युनिस्ट-कांग्रेसगठबंधनकोहारकासामनाकरनापड़ा।

सांगठनिकक्षमताकोमजबूतकरनेमेंलगीभाजपा  कांग्रेसकीकभीवामतोकभीतृणमूलकीइसनीतिनेबंगालमेंउसकीविश्वसनीयताऔरजनाधारकोऔरकमकरदिया।इसबीचभाजपाअपनीसांगठनिकक्षमताकोमजबूतकरनेमेंलगीथी।2014केआमचुनावोंमेंभाजपाकोलगभग87लाखमतदाताओंनेवोटदियाथा।अमितशाहकोयहसमझनेमेंदेरनहींलगीकिबंगालकीसियासीजमीनकेभीतरवहांकेसत्ताधारीदलकेखिलाफकुछउथल-पुथलचलरहीहै,जिसेभाजपाकेपक्षमेंमोड़नेकीजरूरतहै।बंगालमेंचौथेपायदानकीपार्टीमानीजानेवालीभाजपाकेलिएपहलामहत्वपूर्णकार्यथासंघर्षऔरराजनीतिकआंदोलनकेमाध्यमसेबंगालकीराजनीतिमेंविपक्षकीजगहपरकब्जाकरना।इसकीशुरुआतअमितशाहने25अप्रैल2017कोनक्सलबाड़ीसेकरदीथी।अपनेबूथप्रवासकेदौरानशाहतीनदिनोंतकबंगालमेंरहेऔरनक्सलबाड़ीसेउन्होंनेबूथसंपर्कशुरूकिया।इसप्रवासमेंउन्होंनेसंगठनकेपदाधिकारी,कार्यकर्ता,बूथविस्तारक,बंगालकेपत्रकार,प्रबुद्धवर्गसाहितअनेकलोगोंसेसंपर्ककिया।

चुनावकोप्रभावितकरनेकीकोशिश राज्यमेंहालहीमेंहुएपंचायतचुनावोंमेंजिसढंगसेपश्चिमबंगालकीसरकारनेचुनावकोप्रभावितकरनेऔरहिंसाकोबढ़ावादेनेकाअपनीओरसेभरपूरप्रयासकिया,उससेइसधारणाकोऔरबलमिलाकिबंगालमेंभाजपाकेबढ़तेप्रसारऔरप्रभावनेममताकीचिंताबढ़ादीहै।बंगालमेंहुएहालकेइनचुनावोंमेंजिसढंगसेसत्ताधारीदलतृणमूलकांग्रेसनेधन-बलऔरहिंसाकेसहारेविरोधीदलोंकोचुनावमेंहिस्सालेनेसेरोकनेकीकोशिशकी,उससेयहपताचलताहैकिममताबनर्जीभीयहस्वीकारकरचुकीहैंकिअबउनकीलड़ाईभाजपासेहै।इसचुनावकोलेकरसुप्रीमकोर्टनेभीआश्चर्यव्यक्तकियाथा।इनसबकेबावजूदजबचुनावपरिणामआयेतोभारतीयजनतापार्टीबंगालमेंदूसरीसबसेबड़ीपार्टीबनकरउभरी।भाजपानेकम्युनिस्टपार्टीकोतीसरेपायदानपरधकेलदिया।इसीसालफरवरीमेंनोयापाड़ाविधानसभासीटकेलिएहुएउपचुनावमेंभाजपादूसरेनंबरकीपार्टीरही,जबकिकांग्रेसचौथेपायदानपरखिसकगई।

लोकसभाचुनावमेंबचेकुछमहीनेअबलोकसभाचुनावमेंकुछमहीनेहीबचेहैं।इनसबकेबीचभाजपाअध्यक्षअमितशाहलगातारयहबोलतेनजरआरहेहैंकि2019मेंबंगालसेभाजपाको22सेज्यादासीटोंपरजीतमिलनेजारहीहै।शाहकेदावेमेंकितनीसच्चाईहैयहतोपरिणामोंसेहीपताचलेगालेकिनउनकीकार्यशैलीपरसंदेहनहींकियाजासकताहै।अगरशाहने22सीटोंकालक्ष्यरखाहैतोइसकीरणनीतिभीउन्होंनेपुख्तातरीकेसेतैयारकीहोगी।गतडेढ़महीनेमेंभाजपाअध्यक्षअमितशाहदोबारबंगालकादौराकरचुकेहैं।एकइंटरव्यूमेंतोवेयहांतककहचुकेहैंकिवेमहीनेकेतीनदिनपश्चिमबंगालमेंरहनेकामनबनारहेहैं।इसलिएलक्ष्यभेदीरणनीतिकारअमितशाहकीनजरेंयदिबंगालमेंममताकेदुर्गपरहैंतोयहराजनीतिकलड़ाईऔररोचकहोनेवालीहै।मुद्दोंकीसमझरखनेवालेजनताकीनब्जकोटटोलनेऔरबिनादेरकिएसटीकनिर्णयकरनेवालेअमितशाहकाबंगालपरफोकसऔरममताबनर्जीकीबौखलाहटइसबातकासंकेतहैकिबंगालमेंतृणमूलकीसियासीदीवारकीनींवदरकनेलगीहै।

(फेलोडॉ.श्यामाप्रसादमळ्खर्जीरिसर्चफाउंडेशन)