नयीदिल्ली,14सितंबर(भाषा)दिल्लीकीएकअदालतनेशिरोमणिअकालीदल(शिअद)केनेतामनजिंदरसिंहसिरसाऔरचारअन्यकोनवंबर2012मेंयहांगुरुद्वारारकाबगंजसाहिबमेंदंगाकरनेकेएकमामलेमेंमंगलवारकोबरीकरदिया।अतिरिक्तमुख्यमेट्रोपोलिटनमजिस्ट्रेटसचिनगुप्तानेदिल्लीसिखगुरुद्वाराप्रबंधककमेटी(डीएसजीएमसी)कीबैठककेदौरानदंगाकरनेऔरदूसरोंकोचोटपहुंचानेकेआरोपियोंसिरसा,मंजीतसिंहजीके,कुलदीपसिंहभोगल,परमजीतसिंहराणाऔरचमनसिंहकोबरीकरदिया।सभीआरोपियोंकेखिलाफभारतीयदंडसंहिता(आईपीसी)कीधाराओं147(दंगा),148(दंगा,घातकहथियारसेलैस),323(स्वेच्छासेचोटपहुंचाना),325(स्वेच्छासेगंभीरचोटपहुंचाना)और427(ऐसीकोईकुचेष्टा,जिससेपचासरुपएयाउससेअधिककीहानियानुकसानहो)आदिकेतहतआरोपलगायेगयेथे।अदालतनेकहा,‘‘यहस्पष्टहैकिअभियोजनपक्षआरोपीव्यक्तियोंकेखिलाफआरोपोंकोसाबितकरनेमेंविफलरहाहैऔरइसप्रकारआरोपीव्यक्तियोंकोउक्तअपराधोंकेलिएबरीकियाजाताहै।’’पुलिसकेअनुसार,15नवंबर,2012कोगुरुद्वारारकाबगंजसाहिब,नईदिल्लीमें,दिल्लीसिखगुरुद्वाराप्रबंधनसमिति(डीएसजीएमसी)कीएकबैठकबुलाईगईथीऔरसभीआरोपियोंऔरअन्यलोगोंनेदंगाफैलानेकेउद्देश्यसेबलतथाहिंसाऔरतलवारजैसेघातकहथियारकाइस्तेमालकियाथा।पुलिसनेकहाथाकिआरोपियोंनेडीएसजीएमसीकीसंपत्तियोंकोभीनुकसानपहुंचायाथा।