अमृतसर[कमलकोहली]। गुरुनगरीअमृतसरमेंफतेहगढ़चूड़ियांरोडस्थितगांवबीरबलपुरामेंइस्कॉनकेप्रबंधोंमेंचलरहीश्रीगोकुलगोशालाकेसाथभव्यमंदिरकानिर्माणकियाजारहाहै।यहगांवफतेहगढ़चूड़ियां रोडबाईपाससेकरीब15किलोमीटरदूरस्थितहै।इस्कॉनकीओरसेपंजाबकेकिसीगांवमेंयहपहलामंदिरबनायाजाएगा,जिसमेंश्रीराधा-कृष्णकेविग्रहसुशोभितकिएजाएंगे।इसमंदिरकेनिर्माणपर50लाखरुपयेकीलागतआएगी।दोहजारगजमेंबननेवालेइसमंदिरमेंहरतरहकीआधुनिकसुविधाओंकाप्रबंधकियाजाएगा।मंदिरकेनिर्माणकेलिएचारअगस्तकोभूमिपूजनहोगा।

इसमंदिरकेनिर्माणकाशुभारंभइस्कॉनकेप्रमुखस्वामीनवयोगेंद्रमहाराजकीओरसेपूजाअर्चनाकरकेभेजीगईप्रथमईंटलगाकरकियाजाएगा।श्रीराधा-कृष्णकेविग्रहधार्मिकपरंपराकेसाथमंदिरमेंसुशोभितकिएजाएंगे।यहस्वरूपराजस्थानसेमंगवाएजारहेहैं।इसकागुंबद51फीटऊंचाहोगा।मंदिरमेंझरनाऔरसुंदरसत्संगहालभीबनायाजाएगा।मंदिरनिर्माणकेलिएराजस्थानऔरमध्यप्रदेशसेसफेदऔररंगबिरंगासंगमरमरमंगवायाजाएगा।यहश्रद्धालुओंकेलिएआकर्षणकाकेंद्रहोगा।इस्कॉनकेपूरेदेशमें700सेअधिकमंदिरहैं।अमृतसरमेंइस्कॉनकेदोमंदिरपहलेबनेहुएहैं।

एकमंदिरलक्ष्मणसरचौकऔरदूसरावृंदावनगार्डनमेंबनायागयाहै।अबयहतीसरामंदिरपंजाबकेप्रथमगांवअमृतसरस्थितगांवबीरबलपुराफतेहगढ़चूडिय़ांरोडमेंबनायाजारहाहै।यहांपरलाइटएंडसाउंडकाभीआधुनिकतरीकेसेलगानेकीरूपरेखाबनाईगईहै।इसदौरानएकयज्ञशालाकाभीनिर्माणकियाजाएगा,जिसमेंविश्वशांतितथासमाजकल्याणकेलिएयज्ञकिएजाएंगे।

चारअगस्तकोहोगाभूमिपूजन

श्रीगोकुलगोशालाकेअध्यक्षस्वामीश्यामानंदप्रभुनेबतायाकिचारअगस्तकीसुबहनौबजेभूमिपूजनहोगा।इसदौरानकैबिनेटमंत्रीओमप्रकाशसोनीऔरइस्कॉनकेअमृतसरअध्यक्षस्वामीइंद्रानुजदासमहाराजमुख्यतौरपरशामिलहोंगे।पूरीधार्मिकपरंपराकेसाथभूमिपूजनकियाजाएगा।उसकेबादमंदिरनिर्माणकाकार्यशुरूकरदियाजाएगा।यहमंदिरनवंबरमेंहोनेवालीश्रीगोपाष्टमीपरपूराहोनेकाअनुमानहै।उन्होंनेश्रद्धालुओंसेअपीलकीहैकिवहमंदिरनिर्माणकेलिएअपनापूरासहयोगदेंताकिमंदिरकानिर्माणसमयअनुसारहोसके।