संवादसूत्र,देवघर:बाबाबैद्यनाथकादरबारदेवघरकीअर्थव्यवस्थाकेलिएखासमायनेरखताहै।यहदरबारआमश्रद्धालुओंकेलिएप्रधानमंत्रीकेआह्वानपरआहूतजनताक‌र्फ्यूकेदिन22मार्चसेबंदहै।ऐसेमेंमंदिरपरआश्रितदुकानदारोंकीस्थितिखराबहोगईहै।आखिरकारइनकेसब्रकाबांधभीसोमवारकोटूटगया।सभीशिवलोकपरिसरमेंएकत्रितहुएतथासरकारवप्रशासनकेरवैयेकाविरोधकरतेहुएबाबामंदिरकेसाथहीपरिसरकेआसपासकीदुकानोंकोखोलनेकीमांगकीगई।

विरोधकरनेवालोंमेंबड़ीसंख्यामेंपेड़ाव्यवसायी,मनिहारी,बद्धीमाला,फुटकरदुकानदारवचूड़ाव्यवसायीसहितअन्यशामिलथे।इन्होंनेकहाकिसबकापरिवारबाबामंदिरपरआश्रितहैं।मंदिरमेंश्रद्धालुआएंगेतभीउनकेपरिवारकाभरण-पोषणहोगा।पांचमाहसेबाबामंदिरबंदहै।वर्तमानमेंभीमंदिरखुलनेकीप्रक्रियासेसंबंधितकोईआदेशनहींहै।ऐसेमेंउनकेवपरिवारकेसमक्षभूखोंमरनेकीनौबतआगईहै।नतोसरकारवनहीप्रशासनकीओरसेउन्हेंकिसीतरहकीराहतदीगईहै।दुकानकाकिराया,स्टॉफखर्चवमहाजनकातगादाअलगपरेशानकिएहुएहै।शीघ्रउपायनहींकियागयातोउनकेसमक्षभूखोंमरनेकेसिवायदूसराविकल्पनहींहै।सभीअविलंबबाबामंदिरखुलवातेहुएउन्हेंअपनी-अपनीदुकानखोलनेकाआदेशदिएजानेकीमांगकी।

मंदिरपरआश्रितदुकान

कहनानहोगाकिबाबामंदिरकेआसपाससभीदुकानोंकीदुकानदारीमंदिरआनेवालेश्रद्धालुओंपरनिर्भरकरतीहै।ऐसेमेंपांचमाहसेमंदिरहै,जिसकापरिणामहैकिइनकीमालीहालतदयनीयहोगईहै।फूलवबेलपत्रआदिबेचनेवालोंमेंकईनेतोअपनारोजगारहीबदललियाहै।स्थायीदुकानदारकेसमक्षतोपरिवारचलानेकीविकटसमस्याखड़ीहोगईहै।

राहतपैकेजकीकरेंगेमांग

शिवलोकमेंविरोधकेदौरानसभीदुकानदारोंनेसर्वसम्मतिसेबाबामंदिरक्षेत्रखुदरादुकानदारसंघकागठनकियागया।निर्णयलियाकिसंघकाप्रतिनिधिमंडलशीघ्रहीजिलाप्रशासनवजनप्रतिनिधियोंसेमिलकरमांगोंसेसंबंधितआवेदनसौंपेगा।प्रशासनवप्रतिनिधियोंसेबाबामंदिरखुलवानेयाउनकेराहतपैकेजकीव्यवस्थाकरनेकीमांगप्रतिनिधिमंडलकरेगा।