उनकेकमरेमेंतीनबेडहैं,जिसमेंसेदोबेडपररातमेंकौनठहरेगा,उन्हेंनहींपतारहता.उनकेलिएएकबेडआरक्षितहै,जिसकेआधेहिस्सेमेंकिताबेंऔरकागजातहैंतथाबाकीकेआधेहिस्सेमेंवेआरामकरतेहैं.उनसेकोईमिलनेआजाएतोबेडहीकुर्सीबनजाताहै.बेडकीबगलमेंजरूरतकासामानरहताहै.हररोजदोचम्मचसत्तूकानाश्ताऔरकैंटीनकाखानाउनकीदिनचर्याहै.हमबातकररहेहैंबिहारविधानपरिषदके86वर्षीयसदस्यबासुदेवसिंहकी,जोपिछले22सालसेनिर्वाचितप्रतिनिधिहैं.लेकिनवेसरकारीबंगलेमेंरहनेकीबजाएपटनाकेजमालरोडस्थितबिहारमाध्यमिकशिक्षकसंघभवनकेसातनंबरकमरेमेंरहतेहैं.

ऐसानहीहैकिउन्हेंबंगलानहींमिला,बल्कियहरास्ताउन्होंनेखुदचुनाहै.1990मेंपहलीबारजबवेसीपीएमसेबेगूसरायकेएमएलएनिर्वाचितहुएथेतबउन्हेंविधायकक्लबमेंदोफ्लैटआवंटितहुएथे,जिसमेंसे उन्होंनेएकफ्लैटकोपार्टीकार्यालयऔरदूसरेकोजनताकेलिएछोड़दियाथा.1996मेंदूसरीबारजबवेदरभंगाशिक्षकस्नातकक्षेत्रसेविधानपार्षदनिर्वाचितहुएतोउन्हेंएकसरकारीबंगलामिलाथा,लेकिनउसेपार्टीकेपूर्वविधायककोरहनेकेलिएदेदिया,जबकिबंगलेकाकिरायाऔरबिजलीकेबिलकाभुगतानबासुदेवसिंहहीकरते हैं.

उन्हेंगाड़ीकेलिएपैसेऔरसुरक्षाकेलिएबॉडीगार्डउपलब्धकराएगए,लेकिनउन्होंनेदोनोंलौटादिया.लिहाजा,वेरिक्शेसेहीआते-जातेहैं.चुनावजीतनेकेबादउन्होंनेजमीनऔरफ्लैटनहींखरीदेबल्किपार्टीऑफिसकेलिएजमीनखरीदकरऑफिसबनवादिया.विधानपरिषदकेसदस्यकेरूपमेंमिलनेवालीमानदराशिकाआधाहिस्सावेपार्टीलेवीऔरआधासमाज,परिवारऔरअपनीमदमेंखर्चकरतेहैं.फंडकीअनुशंसाजरूरतोंकेहिसाबसेकरतेहैं,इसलिएकमीशनदेकरकामलेनेवालोंकीभीड़नहींरहती.

बेगूसरायजिलेकेवासुदेवपुरचांदपुराकेकिसानबोढ़नसिंहकेपुत्रबासुदेवसिंहपरिवारवादमेंभीनहीफंसे.उनकीदोसंतानेंहैं.बेटाअजयसिंहक्लर्कऔरपुत्रवधूरेखादेवीलाइब्रेरियनहैं.बेटीमीनादेवीकोछहमाहपहलेशिक्षककीनौकरीतबमिली,जबवेरिटायरमेंटकीअवस्थामेंपहुंचगईं.

उनकीयहीसादगीउन्हेंदूसरोंसेजुदाकरतीहै.1990मेंछहएमएलएथे,1995मेंचारलेकिनअबवेअकेलेहैंजोप्रतिकूलपरिस्थितियोंमेंनिर्वाचितहुए.लोगउन्हेंसंतमानतेहैं.बिहारप्रदेशकांग्रेसकमेटीकेपूर्वउपाध्यक्षनरेंद्रकुमारकहतेहैं,''बासुदेवबाबूराजनैतिकसंतहैं,जिनकीईमानदारीऔरसेवासेलोगोंकोप्रेरणालेनेकीजरूरतहै.अबजबलोगराजनीतिकोकमाईकाजरियामानतेहैं,लेकिनवेसेवाकामाध्यम.''सदनमेंभीउनकीछविसर्वाधिकसवालउठानेवालोंकीरहीहै,जिसकीतारीफमुख्यमंत्रीनीतीशकुमारऔरपूर्वमुख्यमंत्रीलालूप्रसादयादवकरतेरहेहैं.

हालांकिवेदरभंगाशिक्षकनिर्वाचनक्षेत्रकेप्रतिनिधिहैं,लेकिनराज्‍यभरकेशिक्षकोंकीसमस्याओंकेप्रतिगंभीररहतेहैं.बिहारप्रोजेक्टउच्चविद्यालयशिक्षकसंघकेसचिवमिथिलेशकुमारसिन्हाकहतेहैंकिवेशिक्षाऔरशिक्षकोंकेलिएसमर्पितइनसानहैं,जिनकेलिएक्षेत्रवादऔरपार्टीकोईबाधानहींहै.''कुछलोगउनकीसादगीपरसवालउठातेहैं,लेकिनउन्हेंइसकीपरवाहनहींहै.वेकहतेहैं,''जितनासम्मानमुझेमिलनाचाहिएउससेज्‍यादासम्मानसमाजसेमिलरहाहै,मुझेऔरक्याचाहिए.''

वेशिक्षकसेनेताबनेहैं.शिक्षकोंकीसमस्याउठानेपरजबएकशिक्षकनेतानेउनकीहैसियतपरसवालउठायातबवेचुनावलड़नेकोउतरे,लेकिनउनकीलोकप्रियताकेकारणउन्हेंपहलेहीसचिवमनोनीतकरदियागया.फिरसीपीएमनेतत्कालीनगृहराज्‍यमंत्रीडॉ.भोलासिंहकेखिलाफचुनावमेंउतारा,तबउन्होंनेसाइकिलसेचुनावलड़करजीतदर्जकी.

बहरहाल,राजनीतिमेंऐसामानाजाताहैकिपूरीव्यवस्थाभ्रष्टहै.लेकिनयहउनकीअवधारणाहोसकतीहै,जिनकीमुलाकातबासुदेवसिंहजैसेनेतासेनहींहुईहै.