मनोजराय,कुचायकोट(गोपालगंज)।दिलमेंछेदकीबीमारीसेग्रसितबच्चोंकोसरकारकासहारामिलगयाहै।जन्मजातदिलमेंछेदकीबीमारीसेपीड़ितबच्चोंकेलिएसरकारनेहृदययोजनाकीशुरुआतकीहै।हृदययोजनादिलकेछेदकोभरकरबच्चोंमेंजीवनकीज्योतिजलाएगी।इसयोजनाकेतहतपूरेबिहारमें27ऐसेबच्चोंकोचयनितकियागयाहै,जिनकेदिलमेंजन्मजातछेदहै।इनबच्चोंमेंतीनबच्चेगोपालगंजजिलेकेभीशामिलहैं।इन27बच्चोंकाहृदययोजनाकेतहतसरकारअहमदाबादकेअस्पतालमेंनिशुल्कआपरेशनकराएगी।गुरुवारकोगोपालगंजकेतीनबच्चोंसहितसभी27बच्चोंकोउनकेअभिभावकोंकेसाथपटनासेहवाईजहाजसेअहमदाबादलेजायागया।

कुछबच्चेजन्मलेनेकेसाथहीदिलमेंछेदहोनेकीबीमारीसेग्रसितपाएजातेहैं।उम्रबढ़नेकेसाथहीइनबच्चोंमेंहृदयसेसंबंधितपरेशानीबढ़नेलगतीहै।हालांकिआपरेशनसेऐसेबच्चोंकेदिलकेछेदकाबंदकरइसबीमारीकोठीककरदियाजाताहै।लेकिनआपरेशनकीसुविधाकुछगिने-चुनेअस्पतालोंमेंहीहैऔरयहकाफीमहंगाहै।जिसकेकारणजिनबच्चोंकेअभिभावकोंकीआर्थिकस्थितिठीकनहींहोतीहै,वेअपनेबच्चोंकाआपरेशननहींकरापातेहैं।लेकिनअबजन्मजातदिलकेछेदकीबीमारीसेग्रसितबच्चोंकोसरकारकेहृदययोजनाकासहारामिलगयाहै।आरबीएसकेकेजिलासमन्वयकडा.अमितरंजननेबतायाकिटीमनेपूरेबिहारमें27ऐसेबच्चोंकोचिन्हितकियाहै,जिनकेदिलमेंजन्मजातछेदहै।इनबच्चोंमेंतीनगोपालगंजजिलेकेभीहैं।जिसमेंकुचायकोटकेबलथरीगांवनिवासीमिथुनतिवारीकीपुत्रीअंशिकाकुमारी,कुचायकोटकेविशंभरपुरनिवासीसुजितकुमारतथाहथुआकेअख्तरहुसैनकीपुत्रीजेनबपरवीनशामिलहै।हृदययोजनासेइनबच्चोंकेदिलकाआपरेशनअहमदाबादकेश्रीसत्यसाईहॉस्पिटलमेंकरायाजाएगा।गुरुवारकोहवाईजहाजसेसभी27बच्चोंकोअहमदाबादभेजागया।इनबच्चोंकेइलाजवआपरेशनमेंआनेवालेसभीखर्चसरकारउठाएगी।उन्होंनेबतायाकिजिनबच्चोंकेदिलमेंजन्मजातछेदहोताहै,उनबच्चोंकोराष्ट्रीयबालस्वास्थ्ययोजनाकीटीमचयनकरतीहै।इसकेबादवरीयस्वास्थ्यसंस्थानमेंइसकीसूचीभेजीजातीहै।वहांसेकाउंसिलिगकेबादबच्चोंकोइलाजकेलिएबेहतरस्वास्थ्यसंस्थानमेंभेजाजाताहै।