भभुआ,जेएनएन।जिलासमाहरणालयकेसमीपलिच्छवीभवनकेसामनेबुधवारकोनिजीविद्यालयकेसंचालकोंनेएकदिवसीयधरनादेकरविद्यालयसंचालनकेलिएराज्यसरकारसेआदेशदेनेकीमांगकी।धरनाकेबादसंचालकोंनेडीएमकोआठसूत्रीमांगोंकाज्ञापनभीसौंपा।धरनामेंशामिलसंचालकोंनेकहाकिमार्चसेहीसभीनिजीवसरकारीविद्यालयकोरोनामहामारीकीवजहसेबंदहै।जिसकेचलतेनिजीविद्यालयोंकेकर्मचारीशिक्षकशिक्षिकाएंबेरोजगारहोगएहैं।दिनप्रतिदिनस्थितिऔरखराबहोरहीहै।(

संचालकोंनेकियादोबारास्‍कूलखुलवानेकाआग्रह

वहींडीएमकोदिएगएज्ञापनमेंसंचालकोंनेकेंद्रसरकारसेअपनेआदेशसंख्या40-3/2020-डीएम-1(ए)दिनांक30सितंबर2020केकंडिकासंख्या1(ए),1(बी),1(सी),1(डी) व1(एफ)केमाध्यमसेविद्यालयोंकोखोलनेकेलिएएवंउससेसंबंधितनियमावलीकावर्णनकरतेहुएकंडिका 1(ई)केतहतसभीराज्यसरकारोंकोदिशानिर्देशदेतेहुएराज्यमेंदिशानिर्देशजारीकरनेकाआग्रहकियाहै।उपरोक्तपत्रकेआलोकमेंराज्यसरकारकेद्वाराइसविषयमेंअबतककोईभीदिशानिर्देशपारितनहींकियागयाहै।संचालकोंनेशीघ्रविद्यालयोंकोभौतिकरूपसेसंचालितकरनेकीघोषणाकरनेकीमांगकी।इसकेअलावावेतनकेअतिरिक्तहरविद्यालयकेअन्यआवश्यकमासिकखर्चोंमेंबिल्डिंगकालोन,किराया,बैंककालोन,मेंटेनेंसआधारितखर्चे,बिजलीकाबिलसभीशामिलहैं।जिससेप्राइवेटस्कूलोंकेप्रबंधकशिक्षकएवंकर्मचारीअत्यंतमानसिकतनावमेंहैं।पिछलेनौमहीनेकेअंदरशिक्षाकेकार्योंसेजुड़ेलोगबेरोजगारहोगएहैं।इसमेंउपरोक्तवर्णितकीराशिकोमाफकरनेकेलिएदिशानिर्देशजारीकरनेकीमांगकी।

कहा,स्‍कूलबंदरहनेपरबिजलीबिलसमेतअन्‍यटैक्‍समाफकिएजाएं

संचालकोंनेकहाकिबिजलीकाबिलट्रांसपोर्टमेंलगनेवालेविभिन्नप्रकारकेटैक्सकोमाफकियाजाएएवंबैंककेईएमआईपरलगनेवालेब्याजकोनहींलियाजाए। सरकारकीओरसेकोईदिशा-निर्देशनहींहोनेकीवजहसेअभिभावकोंवविद्यालयसंचालकोंकेबीचतनावउत्पन्नहोरहाहै।क्योंकिमार्चमहीनेसेकिसीभीनिजीविद्यालयनेअभिभावकोंसेवाहनशुल्कनहींलियाहै।लेकिनबिहारसरकारकीतरफसेट्रांसपोर्टटैक्सबिजलीकाबिलइंश्युरेंसशुल्कनिरंतरलियाजारहाहै।ऐसीपरिस्थितिकोदेखतेहुएसभीनिजीविद्यालयसंचालकोंमेंअसंतोषकीस्थितिउत्पन्नहोचुकीहैसंचालकोंनेकहाकिट्रांसपोर्टटैक्सएवंवाहनोंकेइंश्युरेंसकोमाफकरनेकेलिएराज्यसरकारदिशानिर्देशपारितकरें।गतकईवर्षोंसेशिक्षाकेअधिकारकीराशिआजतकभीनिजीविद्यालयोंकोनहींदेनेपरभीसंचालकोंनेअसंतोषव्यक्तकियाहै।संचालकोंनेकहाकिप्रत्येकवर्षसभीनिजीविद्यालयोंनेसरकारकीशिक्षानीतिकेअनुसारअपने-अपनेविद्यालयोंमेंशिक्षाकेअधिकारकेतहतविद्यार्थियोंकोनिरंतरशिक्षाप्रदानकीहै।लेकिनकईपत्रभेजनेकेबावजूदआजतकशिक्षाकेअधिकारकीराशिसरकारकेद्वारानिजीविद्यालयोंकोनहींउपलब्धकराईगई।

भवनोंकाकिरायाभीमाफकरायाजाए

संचालकोंनेडीएमसेशीघ्रशिक्षाकेअधिकारकीराशिसभीनिजीविद्यालयोंकोनिर्गतकरनेकेलिएआवश्यककदमउठानेकीमांगकी।इसकेअलावासभीनिजीविद्यालयोंकेभवनोंकोकिरायामाफकरनेकीभीमांगसंचालकोंनेकी।धरनामेंराजेशशर्मा,आनंदकुमारसिंह,राजवंशविलियम,ओमप्रकाशचतुर्वेदी,दिनेशकुमारसिंह,विनोदकुमार,प्रशांतकुमारसिंह,राकेशकुमार,धर्मेंद्रकुमारसिंह,अनूपकुमारसिंह,प्रमोदकुमारसिंह,कुमारमंगलेश्वर,महेंद्रप्रतापसिंह,एसएनदुबे,रविंद्रसिंह,कुमारराकेश,सुधाजायसवाल,अशरफीसिंह,वीरेंद्रसिंह,अनिताकुमारी,हरिशंकरसिंह,अजयकुमारसिंह,नागेश्वरतिवारी,रविरंजनकुमार,रामप्यारेसिंह,राजनाथयादव,दुर्गेशतिवारी,प्रदीपकुमारसिंह,विजयकुमारतिवारी,प्रभुनारायणसिंहसहितअन्यसंचालकवशिक्षकशिक्षिकाएंशामिलरहे।