औरंगाबाद।प्रखंडकेयोगीबिगहागांवस्थितठाकुरबाड़ीउपेक्षितहै।ठाकुरबाड़ीमेंभगवानराम,लक्ष्मण,सीताकीअतिप्राचीनमूर्तियांहैं।ठाकुड़बाड़ीएनएच139जियादीपुरमोड़सेकरीबडेढ़किलोमीटरपश्चिमस्थितहै।मंदिरकेनामचारबीघाजमीनहै,परउसकीपैदावारकहांचलीजातीहैकोईनहींजानता।मंदिरमेंपूजा-पाठकेलिएएकपुजारीकीनियुक्तकीगईहै।मंदिरकेपासगैरमजरुआजमीनहै।जमानकागांवकेलोगोनेअतिक्रमणकरलियाहै।अधिकारियोंकीउदासीनतासेइसधार्मिकआस्थाकेकेंद्रकाविकासनहींहोपारहाहै।ग्रामीणोंकीमानेतोयहमंदिरकानिर्माणअमिलौनाकेस्व.जगेश्वरपांडेयनेकरायागयाथा।यहांआनेवालेभक्तोंकामंदिरकेप्रतिकाफीविश्वासहै।यहांपूजा-अर्चनाकरनेजोभीलोगआतेहैउनकीमन्नतअवश्यपूरीहोतीहै।सावनमाहमेंयहांविशेषधार्मिकआयोजनहोताहै।