संवादसूत्र,अगस्त्यमुनि:प्रखंडकेअंतर्गतसाणेश्वरमहाराजमंदिरमेंचलरहेमहायज्ञमेंशनिवारकोभव्यजलकलशयात्राकाआयोजनकियागया।।इसदौरान151भक्तोंकेसहयोगएवंविभिन्नगांवोंसेआईकीर्तनमंडलीकीओरसेभजन-कीर्तनकेसाथजलकलशयात्रानिकालीगई।वहीं,मंदिरमेंचलरहेअयुतयज्ञमेंआचार्यऔरब्राह्मणोंनेअक्षत,जौ-तिलवघीकेसाथआहुतियांदी।रविवारकोपूर्णाहूतिकेसाथअयुतयज्ञकासमापनहोजाएगा।

शनिवारकोसुबहपांचबजेसेसाणेश्वरमहाराजकीविभिन्नपूजासंपन्नकरभगवानसाणेश्वरमहाराजकाश्रृंगारकियागया।आरतीपूजाकेबादभगवानकोभोगलगायागया।इसकेबादमहायज्ञमेंवैदिकमंत्रोच्चारणकेसाथजौ-तिलवघीआहुतियांडालनेकीनियमितप्रक्रियाशुरूहुई।इसकेउपरांतमंदिरसमितिकेपदाधिकारी,भक्तजनएवंब्राह्मणगाजे-बाजोंकेसाथमंदिरसेकरीबएककिलोमीटरदूरप्राचीनप्राकृतिकजलस्त्रोतजलकुंडीपहुंचे,जहांब्राहमणोंनेजलकुंडीकीविशेषपूजाअर्चनाकरजलकोकलशोंमेंभरागया।जैसेहीजलयात्रानेमंदिरकेलिएप्रस्थानकिया,वैसेहीभजन-कीर्तनकेसाथहीसाणेश्वरमहाराजकेजयघोषसेपूराक्षेत्रगुंजायमानहोगया।जलयात्राकेमंदिरपरिसरपहुंचनेपरभक्तोंनेफूलवअक्षतोंसेडोलीकाजोरदारस्वागतकिया।इसजलसेभगवानसाणेश्वरमहाराजकाजलाभिषेककियागया।इसदौरान,दूरदराजक्षेत्रोंसेबड़ीसंख्यामेंभक्तोंकीभीड़उमड़ीहुईथी।महायज्ञमेंशामिलहोनेकेलिएप्रवासीग्रामीणवधियाणियांभीपहुंचीहैं।महायज्ञकेआठवेंदिनभीब्राहमणोंनेयज्ञमेंजौ-तिलवघीकीआहुतियांडालनेकाक्रमजारीरहा।अयुत्तमहायज्ञकारविवारकोविधिवतसमापनहोगया।महायज्ञसमितिकेअध्यक्षरणजीतसिंहनेगीऔरसचिवनरेंद्ररौथाणनेबतायाकिदूसरेचरणकालक्षमहायज्ञ21मईसेशुरूहोगा।23कोसाणेश्वरमहाराजकाअपनेबहिनकुष्मांडासेमिलापहोगा।इसमौकेपरआचार्यपं.स्वतंत्रताप्रसादपंत,मेदनीधरपुरोहित,बालव्यासअरविदपुरोहित,सावननेगी,आशीषसेमवाल,पंकजपुरोहित,राजेंद्रप्रसाद,माहेश्वर,विनोदसेमवाल,अंकितपुरोहित,राकेश,चंद्रशेखरनौटियाल,श्रीधरभट्ट,धीरसिंहनेगी,वीरपालसिंहआदिमौजूदथे।

लोकसभाचुनावऔरक्रिकेटसेसंबंधितअपडेटपानेकेलिएडाउनलोडकरेंजागरणएप