आरा(भोजपुर)।राज्यसभाकेउपसभापतिहरिवंशनारायणसिंहनेकहाभोजपुरकीधरतीवीरता,विनम्रताऔरविद्वानोंकीहै,यहांबाबूजगजीवनराम,डा.रामसुभगसिंह,डा.सच्चिदानंदसिन्हा,आचार्यशिवपूजनसहाय,गोविदमिश्र,वशिष्ठनारायणसिंहजैसेकईमहानविद्वानपैदाहुए,जिनकानामदुनियाभरमेंहै।वेएमएममहिलाकालेजकेसभागारमेंबुधवारकोडा.शशिकुमारसिंहकीपुस्तकप्रथमस्वतंत्रतासंग्रामकेमहानायककालोकार्पणकरतेहुएसभाकोसंबोधितकररहेथे।इसमौकेपरकुलपतिप्रो.केसीसिन्हा,प्रो.शैफालीराय,कुलसचिवडा.डीकेसिंह,पत्रकारआनंदमाधव,प्रधानाचार्यडा.आभासिंहभीमौजूदथीं।

उपसभापतिहरिवंशने1857केविद्रोहमेंकुंवरसिंहकीभूमिकाकोरखांकितकरतेहुयेकहाकिकुंवरसिंहकेनामपरआरामेंकेंद्रबनानाचाहिये।यहसरकारकेसहयोगसेनहीं,बल्किआमजनकेसहयोगसेबननाचाहिये।इससेभावीपीढि़योंकोप्रेरणामिलेगी।जोसमाजपुरखोंकाकद्रनहींकरता,उसकाभविष्यनहींहोता।इतिहासहमेंसीखदेताहै।उन्होंनेकहाकिजबदेशमेंवोटबैंककीसियासतनहींथी,तबकुंवरसिंहसभीवर्गोंकेसाथलेकरचलतेथे।कहाकिइतिहासमेंजितनापीछेजाएंगे,उतनाहीभविष्यमेंअच्छाकरेंगे।विषयप्रवेशप्रधानाचार्यडा.आभासिंहनेकिया।कार्यक्रमकीशुरूआतपुस्तककेलेखकडा.शशिकुमारसिंहनेकी।प्रो.शैफालीराय,पत्रकारआनंदमाधवनेपुस्तकपरप्रकाशडाला।इसमौकेपरप्रो.नंदजीदुबे,डा.लतिकावर्मा,प्रो.रामतवक्यासिंह,डा.गुलाबसिंह,जगनारायणतिवारी,डा.कमलसिंह,डा.कुमारकौशलेंद्र,सिनेटसदस्यडा.विनोदसिंहकेअलावाकईलोगउपस्थितथे।कार्यक्रमकेअंतमेंविविकीजमीनकोबचानेकेलिएअजयकुमारतिवारीमुनमुननेउपसभापतिहरिवंशनारायणसिंहकोज्ञापनसौंपा।

कुंवरसिंहचेयरकीराशिलाएगाविवि:कुलपति

वीरकुंवरसिंहविश्वविद्यालयकेकुलपतिप्रो.केसीसिन्हानेकहाकिकुंवरसिंहएकमहानस्वतंत्रासेनानीथे।उनकीवीरतावशासनप्रणालीसेजुड़ेतथ्योंकोसंजोयाजाएगा।इससेइतिहासलेखनमेंमददमिलेगी।उन्होंनेकहाचारवर्षकेंद्रसरकारकेसांस्कृतिकमंत्रालयनेकुंवरसिंहकेनामपरचेयरकीस्थापनाकियाथा।जिसमेंढाईकरोड़रुपयेकीराशिदेनेकीघोषणाकीगईथी।उसराशिकोसंबंधितविभागसेमांगकरलायाजाएगा।इससेकुंवरसिंहकेइतिहाससेजुड़ेविषयोंपररिसर्चहोगा।