पटनाभगवानरामपरअपनेविवादितबयानकोलेकरआलोचनाओंकासामनाकररहेबिहारकेपूर्वमुख्यमंत्रीजीतनराममांझीनेगुरुवारकोपलटवारकरतेहुएकहाकिउन्हेंभीमंदिरोंमेंदलितोंकेप्रवेशकेबारेमेंबोलनाचाहिए।मांझीकर्नाटककीउसघटनाकाजिक्रकररहेथेजहांमंदिरप्रशासननेएकदलितपितापर23हजाररुपयेकाजुर्मानालगाया,जोमंदिरकेद्वारकेबाहरपूजाकररहाथा,लेकिनउसकादोसालकाबेटा4सितंबरकोइसमेंप्रवेशकरगया।मांझीनेट्वीटकरकहा,"मैंजोकुछभीकहरहाहूं...सदियोंकेदर्दकानतीजाहै..हमनेअबतकअपनागुस्साजाहिरनहींकियाहै।"मांझीनेआगेलिखा,"धर्मकेराजनैतिकठेकेदारोंकीज़बानऐसेमामलोंपरचुपहोजातीहै।अबकोईकुछनहींबोलेगा,क्योंकिधर्मकेठेकेदारोंकोपसंदनहींकिदलितमंदिरमेंजाए,दलितधर्मिककव्योंपरटिप्पणीकरे।"रामायणकीकहानीसच्चाईपरआधारितनहीं:मांझीमांझीनेमंगलवारकोकहाथाकिउन्हेंबिहारकेस्कूलीपाठ्यक्रममेंरामायणकोशामिलकरनेसेकोईआपत्तिनहींहै।लेकिनउन्होंनेयहकहकरविवादखड़ाकरदियाकिरामायणकीकहानीसच्चाईपरआधारितनहींहै।