फोटोन0-29एचआईएस44

संवादसहयोगी,बरवाला:भाजपाकेवरिष्ठनेताबीरेंद्रसिंहडूमरखांवउनकेसांसदपुत्रबृजेंद्रसिंहआजबरवालामेंअपनेसमर्थकराजबीरवर्माकेआवासपरपहुंचे।डूमरखांगांवसेहिसारजातेसमयदोनोंपितापुत्रयहाकुछदेरकेलिएरूकेऔरउन्होनेइसदौरानकार्यकर्ताओंसेभीमुलाकातकी।इससेपहलेउन्होनेपुरानाबसअडडाकीऔरआतेहुएपुलिसचौकीकेनिकटहाईवेपरहीजलभराववसड़कपरहीतालाबकानजारादेखातोवेदंगरहगए।बीरेंद्रबोलेकिप्रशासनआखिरकरक्यारहाहै।इसपरराजबीरवर्मानेउन्हेबतायाकिप्रशासनशहरमेंसिवायगड्ढेखोदनेकेऔरकोईकामनहीकररहा।यहतोशुक्रमनाओकिआपकीगाड़ियाइसपानीवदलदलमेंसेनिकलआई।लोगोंनेदोनोंपितापुत्रसेबरवालाकीइसपुरानीसमस्याकासमाधानकरानेकीभीमांगउठाई।बीरेंद्रसिंहडूमरखांनेकहाकिइसमसलेपरडीसीसेजरूरबातकरेंगे।इसमौकेपरउनसेअखिलभारतीयनायकसभाकेशिष्टमंडलनेप्रदेशाध्यक्षहरभगवानकेनेतृत्वमेंमुलाकातकी।उन्हेअपनाज्ञापनसौंपतेहुएमांगकीकिनायकशब्दकोअनुसूचितजातिमेंशामिलकरवायाजाए।उन्होंनेकहाकिअहेरिया,हेरी,अहेरी,थोरी,हारी,तुरीसबनायककीहीउपजातिहै।यहसभीनामअनुसूचितजातिमेंशामिलहै।लेकिननायकशब्दकोअभीतकइसमेशामिलनहीकियागयाहै।जबकिनायककोहीहरियाणाकेअलगअलगजिलोंमेंइन्हींनामोंसेजानाजाताहै।उन्होंनेइसमसलेपरपैरवीकरनेकासमाजकेलोगोंकोआश्वासनदिया।इसअवसरपरराजबीरवर्मा,पूर्वपार्षदरमेशबैटरीवाला,शमशेरपंघाल,देवेंद्रशर्मादेव,बुधरामगुप्ता,रामनिवाससरपंच,जगरूपसिंह,गोधुरामनायक,जिलेसिंहशेखावत,रामकुमारकलायत,टेकरामनायक,मोहनलाल,इंद्रजीतशेखावत,शमशेरनरवाना,योगेन्द्रनायकवसुनीलनायकमौजूदरहे।