संवादसहयोगी,रूपनगर:सर्वधर्मसत्कारतीर्थधमानाकलांइतिहासगढ़साहिबमेंबनवाएगएमंदिरमेंतीर्थकेसंस्थापकब्रह्मलीनबाबाप्यारासिंहजीकीभव्यमूर्तिकोस्थापितकरनेकेलिएजारीसमागमकेदौरानविद्वानपंडितोंनेबाबाजीकीमूर्तिकोफलोंवअनाजसेनिकालतेहुएउसेफूलोंमेंवासकरवायागया।इसमौकेतीर्थकेगद्दीनशींबाबासतनामसिंहमहाराजवसंगतनेसबसेपहलेब्रह्मलीनबाबाप्यारासिंहजीकीमूर्तिपरफूलोंकीवर्षाकी।इसकेसाथहीविश्वशांतिवतीर्थकीचढ़दीकलाकेलिएहवनभीशुरूहोगए।बाबाप्यारासिंहदलकेअध्यक्षकमलसिंहसहितहरियाणाराज्यकेअध्यक्षखुशपालसिंह,हिमाचलकेअध्यक्षहरजीतसिंहवचिटाझंडादलकेमहासचिवसोहनसिंहआदिनेबतायाकिब्रह्मलीनबाबाप्यारासिंहजीकीभव्यमूर्तिकीस्थापनाआजइतिहासगढ़साहिबमेंविशालसमागमकेदौरानकीजाएगी।प्राणप्रतिष्ठासेपहलेमूर्तिकोदूधसेस्नानकरवायाजाएगा।बाबाप्यारासिंहजीकीमूर्तिकेसाथगणदेवकीमूर्तिभीस्थापितकीजाएगी।इसमौकेसंगतकामार्गदर्शनकरतेबाबासतनामसिंहनेकहाकिमनुष्यकाशरीरनाशवानहै,इसलिएइसशरीरसेकेवलअच्छेकर्मकरतेहुएमानवताकीभलाईहीकरनीचाहिए।हमेंऐसेकर्मकरनेचाहिए,जिससेमोक्षकीप्राप्तिसंभवहोसके।धार्मिकसमागमकापोस्टरकियाजारीसंवादसूत्र,घनौली:नौजवानसभाघनौलीकेनौजवानोंनेगुरुद्वारापातशाहीनौवींघनौलीमेंधार्मिकसमागमकेलिएतैयारियांशुरूकरदीहैं।इसकेलिएसंगतघनौलीकेसहयोगसे31दिसंबरकाशामपांचसेरात12बजेतकधार्मिकसमागमकरवायाजाएगा।इसकेलिएधार्मिकसमागमकापोस्टरप्रबंधकोंनेजारीकिया।इससमागमकेदौरानकथावाचकभाईसतनामसिंहरूपनगर,भाईदिलबरसिंहहजूरीरागीजत्थागुरुद्वाराफतेहगढ़साहिबऔरउनकेबादबाबाअमरजीतसिंहनानकसरवालेशबदकीर्तनकरेंगे।समागमकेसाथगुरुकालंगरअटूटभीचलेगा।इसमौकेपरअमनदीपसिंहलाली,सुरजीतसिंह,पंचदलवारासिंह,तलविदरसिंह,मन्नाखिदरबादिया,गुरजोतसिंहवबलजीतसिंहभीउपस्थितथे।