रांची,राज्यब्यूरो।JharkhandCoronaUpdateराज्यसरकारराज्यमेंकोरोनाकेएकबारफिरलगातारबढ़तेसंक्रमणकोदेखतेहुएआगेकीआवश्यकतैयारियांशुरूकरदीहैं।इसकेतहतसभीजिलोंकोबेडकीसंख्याबढ़ानेकेनिर्देशदिएगएहैं।स्वास्थ्यसचिवकेकेसाेननेसभीउपायुक्तोंकोपत्रभेजकरआनेवालेदिनोंमेंमरीजोंकाआकलनकरतेहुएबेडकीसंख्याबढ़ानेकोकहाहै।उन्होंनेइसकीसमीक्षाकरनेकोकहाहैकिउनकेजिलेमेंपर्याप्तसंख्यामेंबेडउपलब्धहैंयानहीं।यदिउपलब्धनहींहैंतोनिजीअस्पतालोंसेसहयोगलेकरबेडकीसंख्याबढ़ानेकोकहाहै।

उन्होंनेपूर्वकेअनुभवकेआधारपरआवश्यकबेडकीसंख्यानिर्धारितकरतेहुएभी30अप्रैलतकउसकीउपलब्धतासुनिश्चितकरनेकोकहाहै।स्वास्थ्यसचिवनेसभीजिलोंमेंपर्याप्तसंख्यामेंपीपीईकिट,दवा,मास्क,सैनिटाइजरआदिकीभीउपलब्धतासुनिश्चितकरनेकोकहाहै।इधर,स्वास्थ्यसचिवनेदूसरेदेशोंसेपिछले15दिनोंमेंझारखंडलाैटेलोगोंकीकोरोनाजांच24घंटेकीभीतरकरानेकाआदेशउपायुक्तोंकोदियाहै।बकायदाजिलोंकोऐसेलोगोंकीसूचीभीभीभेजीगईहै।जांचकेक्रममेंइनकेसैंपलकीजीनोमसिक्वेसिंगभीकराईजाएगी।

किसजिलेमेंकितनेबेडकीहोगीआवश्यकता

राज्यमेंवर्तमानमेंप्रतिदिन20से30हजारजांचकीक्षमता

कोरोनाकालकीशुरुआतमेंझारखंडमेंइसवायरससेनिपटनेकेलिएआवश्यकस्वास्थ्यसंसाधनोंकाकाफीअभावथा।नतोयहांजांचकेकोईइंतजामथाऔरनहीआवश्यकसंख्यामेंवेंटिलेटरयाआइसीयूबेड।लेकिनआजस्थितिबेहतरहै।झारखंडमेंशुरूमेंकोरोनाकीआरटी-पीसीआरसेजांचकेलिएकोईभीलैबनहींथी।शुरूमेंजांचकेलिएसैंपलकोलकातातथाभुवनेश्वरभेजेजारहेथे।अबस्थितियहहैकिराज्यकेसभीजिलोंमेंहीकोरोनाकीजांचहोरहीहै।

राज्यमेंसबसेपहलेजमशेदपुरकेएमजीएमअस्पतालमेंआरटी-पीसीआरमशीनलगाईगई,जहां14मार्चसेकाेराेनाकीजांचशुरूहुई।अबराज्यकेसभीपुरानेवनएमेडिकलकॉलेजों,इटकीयक्ष्माअस्पतालमेंआरटी-पीसीआरसेकोरोनाकीजांचहोरहीहै।राज्यकेलगभगडेढ़दर्जनप्राइवेटलैबमेंभीकोरोनाजांचकीअनुमतिदीगईहै।वहीं,सभीसदरअस्पतालोंवसामुदायिकस्वास्थ्यकेंद्रोंमेंट्रूनेटमशीनसेभीकोरोनाकीजांचहोरहीहै।राज्यमेंवर्तमानमेंसरकारीलैबमेंहीप्रत्येकदिनआरटी-पीसीआरसेछहसे13हजारजांचकीक्षमताहै।

वहींट्रूनेटमशीनोंसेजांचकीक्षमताप्रतिदिनसातहजारसेअधिकहै।बतादेंकिपूर्वमेंरैपिडएंटीजनटेस्टसेभीजांचहोतीथी।लगभग26लाखजांचइसमाध्यमसेहुईहै।इसमेंनिगेटिवरिपोर्टआनेतथाकोरोनाकेलक्षणहोनेपरआरटी-पीसीआरसेपुष्टिकीजातीथी।राज्यमेंकईअभियानचलाकररैपिडएंटीजनटेस्टकेमाध्यमसेकोरोनासंक्रमितोंकीपहचानकीगई।

बनाएगएथे3,863क्वारेंटाइनसेंटरकोरोनाकेसंभावितमरीजोंकोअलगरखनेकेलिएझारखंडमेंकुल3,863क्वारेंटाइनसेंटरबनाएगएथे,जिनमें44,203बेडकीव्यवस्थाकीगईथी।राज्यमेंकुल283आइसोलेशनसेंटरभीबनाएगएथे,जिनमें8386बेडकीउपलब्धतासुनिश्चितकीगईथी।3मई,2020सेदूसरेराज्योंसेआएहुएश्रमिकोंकोजिलातथापंचायतस्तरपरबनाएगएक्वारंटाइनसेंटरोंमेंरखागया।23जून2020तक5,46,598प्रवासीमजदूरकोदूसरेराज्योंसेलायागयाएवं2,24,048प्रवासीमजदूरोंकोहोमक्वारंटाइनमेंरखागयाथा।

टेलीमेडिसिनपरबढ़ाविश्वासलॉकडाउनमेंजहांनिजीअस्पतालोंनेमरीजोंकेइलाजसेइंकारकरदियाथा,वैसेमेंटेलीमेडिसिनमरीजोंकाबड़ासहाराबना।लाॅकडाउनअवधिमेंभीराज्यके100प्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रोंपरटेलीमेडिसिनकेमाध्यमसेअपोलोचेन्नईकेचिकित्सकोंद्वारासमान्यओपीडीसेवाएंउपलब्धकराईगईथीं।एकमई2020कोभारतसरकारद्वाराई-संजीवनीसेवाभीशुरूकीगई।इसकाभीलाभबड़ीसंख्यामेंमरीजोंकोमिला।रिनपासतथासीआइपीकेमाध्यमसेलोगोंकोमानसिकस्वास्थ्यसंबंधितसेवाएंभीदीगईं।