-कोरोनाकालमेंदिवंगतचिकित्सकोंकोदीगईश्रद्धांजलि

-चिकित्सकहोनासौभाग्यकीबात,सेवाहीहमाराधर्मजागरणसंवाददाता,अतरौलिया(आजमगढ़):क्षेत्रकेसौशैय्याअस्पतालमेंगुरुवारकीशामप्रांतीयचिकित्सासेवासंघकीओरसेडाक्टर्सडेकाआयोजनकियागया।चिकित्सकोंनेडा.विधानचंद्ररायकोनमनकरनेकेसाथकोरोनाकालमेंअपनीसेवादेतेहुएदिवंगतहुएचिकित्सकोंकोकैंडलजलाकरश्रद्धांजलिदी।

मुख्यचिकित्साअधिकारीएकेमिश्रतथाप्रांतीयचिकित्सासंघकेअध्यक्षविनयकुमारसिंहयादवकेनेतृत्वमेंसभीनेदोमिनटकामौनरखकरगतात्माकीशांतिकेलिएईश्वरसेप्रार्थनाकी।डा.विनयकुमारसिंहयादवनेबतायाकिविधानचंद्ररायनसिर्फएककुशलचिकित्सकवसर्जनथे,बल्किएकअच्छेमैनेजरऔरराजनीतिज्ञभीथे।उन्होंनेसमाजकोनिरोगबनानेतथासामाजिकबुराइयोंकोदूरकरनेकेलिएजोरास्तादिखाया,उसपरहमेंचलनाहोगा।सभीनेमरीजोंकीसेवाकासंकल्पलेतेहुएकहाकिचिकित्सकहोनासौभाग्यकीबातहैऔरसेवाहीहमाराधर्म।संकल्पलियाकिहमअंतिमसांसतकअपनीयोग्यताकेअनुसारबिनाभेदभावकेइलाजकरेंगे।

इसमौकेपरडा.एकेमिश्र,डा.रंजीत,सीएमएसकेकेझा,वाईकेराय,शिवासिंह,वीरेंद्रगौतम,अलेंद्र,गोविदगुप्ता,धनंजयपांडेय,देवेंद्र,अजहरसिद्दीकी,मुकेश,हमीरसिंह,संतोषवर्मा,राजनवर्मा,अलीहसन,आरपीपाल,अरविदगौतम,अवधेशवर्माआदिमौजूदरहे।