संसू,झारसुगुड़ा:दीपोंकापर्वदीपावलीकापरंपरागतरीति-रिवाजकेसाथमनायागया।दीपावलीकेदिनसुबहसेहीशहरमेंपूजाकीसामग्री,फल-फूल,गन्नावगणेश-लक्ष्मीकीप्रतिमावदीयेआदिकीअस्थाईदुकानेंझंडाचौकपरलगीथी।सैंकड़ोंकीसंख्यामेंलोगोंनेखरीदारीकी।शामहोतेहीपूराशहररंग-बिरंगीविद्युतसज्जावदीयेकीरोशनीसेजगमगाउठी।लगभगसभीलोगनेअपने-अपनेघरों,दुकानोंवप्रतिष्ठानोंमेंलक्ष्मी-गणेशकीपूजाकी।पूजाकेबादसभीनेबड़ोंसेआशीर्वादलिया।बच्चेनएकपड़ेपहनकरदेरराततकआतिशबाजीकरतेरहे।हालांकिप्रशासनकीओरसेआतिशबाजीकरनेकीमनाहीकेबादभीशहरमेंजमकरआतिशबाजीहुई।पुलिसलगातारघूम-घूमकरसायरनबजातीरही।लोगोंसेआतिशबाजीनकरनेकीअपीलकरतीरही।परंतुपुलिस-प्रशासनकेनिर्देशोंकोलोगोंनेदरकिनारकरजमकरआतिशबाजीकी।पिछलेदोवर्षसेकोरोनामहामारीकेकारणसभीत्योहारफीकेथे।इसवर्षकोरोनामहामारीमेंआईकमीकेबादलोगबेफ्रिकरहे।कालीबाड़ी,कालीमंदिरवपंडालोंमेंहुईकालीपूजा:कार्तिकअमावस्याकीरातकालीबाड़ीस्थितकालीमंदिरमेंरीति-रिवाजकेसाथमांकालीकीपूजा-अर्चनाकीगई।इसअवसरपरमंदिरकोविद्युतचालितआकर्षकझालरोंसेसजायागयाथा।मंदिरमेंपूजा-अर्चनावहोमकेबीचमांकालीकीपूजाकीगई।इसअवसरपरसैकड़ोंकीसंख्यामेंमांकालीकेभक्तउपस्थितथे।शहरकेलोगभीअपनेघरोंमेंदीपावलीकीपूजाकरनेकेबादसपरिवारकालीमंदिरपहुंचेऔरमांकालीकादर्शनकरअपनेपरिवारकेलिएसुख-शांतिकीकामनाकी।पूजाकेबादमंदिरआनेवालेभक्तोंकोप्रसादकेरूपमेंभोग(खिचड़ी)काप्रसाददियागया।