जासं,सोरों:तीर्थनगरीकीराहेंगुरुवारकोश्रद्धासेपुलकितहोरहीथी।राहोंदेवीमाताकेजयकारोंसेगूंजरहीथीतोश्रद्धाकेसागरमेंश्रद्धालुझूमरहेथे।सुबहसेधर्मकीसरिताबहानेकाअनवरतसिलसिलातीर्थनगरीमेंराततकबनारहा।छप्पनभोगकेदर्शनोंकोतोसमूचीनगरीउमड़पड़ी।

तीर्थनगरीकेसहावरगेटस्थितचौरासीघंटेवालीमाताकामंदिरगुरुवारकोश्रद्धालुओंसेगुलजारथा।कईझांकियोंकेसाथनिकलीशोभायात्रानागरिकोंकोमोहरहीथी,तोबैंडकीधुनपरश्रद्धालुथिरकरहेथे।मंदिरसेनिकलीयहयात्राहरिपदीगंगा,सोमश्वरघाट,बसस्टेशनसेचंदनचौकहोकरअनाजमंडी,रामलालचौराहा,कटराबाजार,राम¨सहकापुराहोकरमंदिरपहुंची,जहांस्वागतहुआ।इसकेबादभंडारेकाआयोजनहुआ,जिसमेंश्रद्धालुओंनेप्रसादग्रहणकिया।शामकोमंदिरमेंसजाएगएछप्पनभोगकेदर्शनोंकोश्रद्धाकासैलाबउमड़तारहा।

शोभायात्राकेदौरानमहारानीगुप्ता,सौरवगुप्ता,राजीवसोनाली,दीपक,गौरव,शिवमगुप्ता,पूनम,कमलेश,नेहा,राखी,अंजली,सोनूअग्रवाल,संजयअग्रवाल,संजयअग्रवाल,विजय,रविगुप्ता,मुन्नालालसाहूशामिलरहे।