औरंगाबाद।हनुमानजयंती¨हदूकापर्वहै।यहचैत्रमाहकीपूर्णिमाकोमनायाजाताहै।इसदिनभगवानहनुमानकाजन्मदिवसमनायाजाताहै।हनुमानकोभगवानशिवकाग्यारहवांअवतारमानाजाताहै।¨हदूमान्यताकेअनुसाररुद्रावतारभगवानहनुमानमाताअंजनीएवंवानरराजकेसरीकेपुत्रहैं।मंगलवारकोमुख्यबाजारकेनावाडीहरोडस्थितहनुमानमंदिरमेंहनुमानजयंतीमनाईगई।मंदिरपरिसरमें108दियाजलायागया।मंदिरकामुख्यध्वजबदलागया।हनुमानजीकीविशेषपूजनोत्सवकीगई।हनुमानचलिसाकासामूहिकपाठकियागया।सुंदरकांडकापाठकियागया।मंदिरकेपुजारीअरुणमिश्रानेबतायाकिवेदोंकेअनुसारभगवानहनुमानकाजन्मएककरोड़85लाख58हजार112वर्षपहलेचैतपूर्णिमाकोमंगलवारकोचित्रानक्षत्रमेंझारखंडकेगुमलाजिलेकेआंजनगांवकेपहाड़ीकेएकगुफामेंहुआथा।भगवानमहावीरकोबजरंगबली,संकटमोचन,मारुति,रुद्र,मारुतिनंदनएवंपवनपुत्रकेनामसेभीजानाजाताहै।बतायाकिवेभगवानरामकेसच्चेभक्तथे।भक्तिदिखानेकेलिएसीनाफाड़दियाथा।हनुमानकीपालनपोषणमेंहवाकादेवापवननेमददकीथीजिसकारणउन्हेंपवनपुत्रकहाजाताहै।कलियुगकेएकमात्रजागृतदेवताकेरुपमेंपूजेजानेवालेहनुमानजीकीकईप्रसिद्धमंदिरहै।जहांश्रद्धालुओंकीभारीभीड़उमड़तीहै।बतादेंकिनावाडीहस्थितहनुमानमंदिरएवंधर्मशालास्थितसंकटमोचनमंदिरमेंपूजा-अर्चनाकरनेकोलेकरश्रद्धालुओंकीभीड़उमड़ीरही।पुजारीनेबतायाकिहनुमानजयंतीकेदिनलालरंगकाफलएवंओढ़उलकाफूलचढ़ानेकाविशेषमहत्वहै।कहाकियहमंदिरकरीब100वर्षपुरानाहै।यहां24घंटेअखंडदीपजलतेरहतेहैं।दर्शनसेपूर्णहोतीहैंमनोकामनाएं

फोटोफाइल-31एयूआर08

नावाडीहरोडस्थितहनुमानमंदिरकीमुख्यपुजारीअरुणमिश्रानेबतायाकिहनुमानजयंतीकेदिनविशेषपूजनकरनेसेसभीमनोकामनाएंपूर्णहोतीहै।शनिकेप्रभावसेमुक्तिमिलतीहै।कन्या,तुला,वृश्चिक,शनि,कर्क,मीनराशिकेजाजकोंकोहनुमानकीविशेषअराधनाकरनीचाहिए।हनुमानजीभक्तिएवंशक्तिकामजबूतसंगमहैं।