जामताड़ा:पिछलेएकमाहसेजिलेकेशहरीतथाग्रामीणक्षेत्रमेंकोरोनावायरसकाप्रभावखत्मनहींपरकमजरूरहोगयाहै।इसकीसत्यताकोपिछलेएकमाहकीअवधिमेंकिएगएसैंपलजांचवजांचउपरांतमिलेसंक्रमितकीसंख्यास्पष्टकररहीहै।पिछलेतीनजूनतकजिलेमें184323सैंपलकीजांचकीगईथीजिसमेंसे5367संक्रमितमिलेथे।तीनजुलाईसेतीनअगस्ततकजिलेमें41942महिला,पुरुष,बच्चेवबुजुर्गकासैंपलसंग्रहकरजांचकीगई।जांचकेउपरांत152संक्रमितकीपहचानहुई।इसीअवधिमेंउपचारकेउपरांत147संक्रमितसंक्रमणमुक्तहुएहैं।पिछले30दिनोंमें152संक्रमितमिलनासंक्रमणकेघटतेप्रभावकाद्योतकहै।हालांकिकोरोनासंक्रमणकाप्रसारअभीपूरीतरहसमाप्तनहींहुआहै।

विशेषज्ञचिकित्सकडा.दुर्गेशझानेबतायाकितीसरीलहरआनेकीसंभावनाहै।वर्तमानसमयमेंमौसमपरिवर्तनकेकारणलोगसर्दी,खांसी,बुखारआदिसंक्रमणसेग्रसितहोरहेहैं।ऐसेविषमपरिस्थितिमेंमहामारीकोपूरीतरहसेखत्मकरनेकेलिएबेवजहआवाजाहीबंदकरनाजरूरीहै।आवश्यकतापड़नेपरमहामारीनियंत्रणकीसभीशर्तोकाअनुपालनकरतेहुएआवाजाहीकरें।सर्दी,खांसी,बुखारआदिलक्षणदिखनेपरस्थानीयशिविरमेंपहुंचकरसैंपलजांचकराएं।स्वास्थ्यविभागसंक्रमितमरीजकेउपचारकेलिएसभीसुविधादुरुस्तरखाहै।डा.झानेआगेबतायाकिअबतकजिलेमें229566व्यक्तियोंकानमूनासंग्रहकियागयाहैजिसमेंसे226265संग्रहितसैंपलकीजांचकीगईहै।जांचकेबाद5519संक्रमितमिलेहैं।उपचारकेउपरांत5514व्यक्तिसंक्रमणमुक्तहुएहैं।वर्तमानसमयमेंजिलेमेंपांचसक्रियसंक्रमितमरीजहैं।उनकाउपचारचलरहाहै।