नईदिल्ली:केंद्रीयपशुपालनमंत्रीगिरिराजसिंहनेएकबारफिरजनसंख्याकोधर्मसेजोड़ाहै.गिरिराजसिंहनेकहाहैकिजनसंख्यानियंत्रणपरधार्मिकव्यवधानभीएकवजहहै.गिरिराजनेयेभीकहाकिभारतसनसैंतालीसकीतर्जपरसांस्कृतिकविभाजनकीओरबढ़रहाहै.गिरिराजनेसभीदलोंकोजनसंख्यानियंत्रणकानूनकेलिएआगेआनेकोकहाहै.

गिरिराजसिंहनेअपनेट्वीटमेंलिखा,''हिंदुस्तानमेंजनसंख्याविस्फोटअर्थव्यवस्थासामाजिकसमरसताऔरसंसाधनकासंतुलनबिगाड़रहाहै.जनसंख्यानियंत्रणपरधार्मिकव्यवधानभीएककारणहै,हिंदुस्तान47कीतर्ज़परसांस्कृतिकविभाजनकीओरबढ़रहाहै.सभीराजनीतिकदलोंकोसाथहोजनसंख्यानियंत्रणक़ानूनकेलिएआगेआनाहोगा.''

बतादेंकियहपहलामौकानहींहैजबगिरिराजसिंहनेजनसंख्यावृद्धिकामुद्दाउठायाहै.इससेपहलेभीइसमामलेपरट्वीटकरचुकेहैं.गिरिराजसिंहनेइससेपहलेजनवरीकेमहीनेमेंट्वीटकियाथा,बढ़तीजनसंख्याऔरउसकेअनुपातमेंघटतेसंसाधनकोकैसेझेलपाएगाहिंदुस्तान??जनसंख्याविस्फोटहरदृष्टिकोणसेहिंदुस्तानकेलिएखतरनाक.''

हालांकिइसट्वीटकेबादबिहारमेंबीजेपीकीसहयोगीजेडीयूनेहीगिरिराजसिंहपरसवालउठादिएथे.जेडीयूप्रवक्तासंजयसिंहनेगिरिराजसिंहकेट्वीटकोरीट्वीटकरतेहुएलिखाथा-''देशकी130करोड़जनतानेNDAकोविकासऔरराष्ट्रवादकेमुद्देपरवोटकिया.जनसंख्यावृद्धिवास्तवमेंएकसमस्याहैऔरइसकाध्यानसबकोहै.जनसंख्यानियंत्रणकेलिएहरसंभवप्रयासहोनेचाहिएलेकिनगिरिराजजीआपकोकेंद्रसरकारमेंजिसविभागकीजिम्मेवारीमिलीहैउसकीचिंताकरनीचाहिए.''

यूएनकीरिपोर्टमेंकहागयाथाकिभारत2027मेंचीनकोपीछेछोड़करसबसेअधिकजनसंख्यावालादेशबनजाएगा.इसरिपोर्टकेमुताबिकसदीकेअंततकदुनियाकीआबादीकरीब11अरबहोगी.वर्तमानमेंभारतकीजनसंख्याकरीब1.36अरबऔरचीनकी1.42अरबहै.रिपोर्टमेंसंभावनाजताईगईहैकि2050तकभारत164करोड़जनसंख्याकेसाथटॉपपरपहुंचजाएगा.