संवादसूत्र,गणाईगंगोली:स्टेटबैंकशाखामेंविगतनौमाहसेस्टाफकीकमीबनीहुईहै।वहींशुक्रवारकोकोनेटनहींचलनेसेग्राहकोंकेसब्रकाबांधटूटगया।लेनदेनकेलिएआएग्राहकोंनेबैंककेसम्मुखप्रदर्शनकिया।तीनदिनकेभीतरबैंककीव्यवस्थाएंपटरीपरनहींआनेपरउग्रआंदोलनकीचेतावनीदीहै।

गणाईगंगोलीस्थितएसबीआइशाखामेंस्टाफकीकमीहै।जिसकेचलतेयहांपरकार्यप्रभावितरहताहै।बैंककेअधिकांशग्राहकग्रामीणहैंजोलेन-देनकेलिएगांवोंसेपैदलचलकरआतेहैं।पहलेतोस्टाफकीकमीसेकार्यनहींहोपाताहैऊपरसेआएदिनइंटरनेटसेवाठपरहतीहै।ग्राहकोंकोबैरंगवापसलौटनापड़ताहै।शुक्रवारकोभीगांवोंसेदर्जनोंकीसंख्यामेंग्राहकबैंकपहुंचे।बैंकमेंमात्रप्रबंधकऔरएकक्लर्कमौजूदथे।ऊपरसेइंटरनेटसेवाठपथी।कार्यनहींहोपारहाथा।

क्लर्कचंदनरावतनेबतायाकिबैंककीइंटरनेटसेवाखराबहै।सहायकमैनेजरऔरगार्डचेस्टशाखाबेरीनागगएहैं।बैंकमेंकार्यनहींहोपानेसेग्राहकआक्रोशितहोनेलगे।ग्राहकोंनेबैंककेसम्मुखप्रदर्शनकिया।जिसमेंनौमाहसेस्टाफकीपूर्तिनहींहोनेऔरआएदिनइंटरनेटसेवाखराबरहनेपररोषजताया।स्टेटबैंकहाय-हायकेनारेलगातेहुएप्रदर्शनकिया।प्रदर्शनकरनेवालोंमेंसुंदरलाल,हेमंतसिंह,भूपेशचंद्र,किशनराम,मनीराम,देवसिंह,हयातसिंह,भनुलीदेवी,दीपादेवी,शोभादेवी,भावना,ममता,सुनीता,कल्पना,गोपालसिंह,हयात,रमेश,खीमराम,गोविंदपंत,रमेशनियोलिया,गिरीशउपाध्याय,राजूउपाध्याय,हरीशसिंह,कृपालसिंहसहितअन्यग्राहकशामिलथे।