संवादसहयोगी,श्रीमुक्तसरसाहिब

ब्रह्मज्ञानीबाबाबुड्ढासाहिबग्रंथीरागीसिहसेवासोसायटीकीतरफसेगांवमहाबद्धरगुरुद्वाराकलगीधरसाहिबसेवासोसायटीकेप्रधानभाईहरबंससिंहकीप्रधानगीमेंहुईबैठकमेंग्रंथीतथारागीसिहोंकीतरफसेविचारविमर्शकियागया।रागियोंकीतरफसेखेतीबिलकाभीविरोधकियातथाकेंद्रसरकारसेइसकानूनकोरदकरनेकीमांगकी।सेवासोसायटीग्रंथीरागीसेवासोसायटीकीतरफसेकिसानोंकोसमर्थनदियागया।

इसअवसरपरभाईगुरसंगतसिंह,वसनसिंह,कुलवंतसिंह,डॉ.बलविदर,जगसीरसिंह,उत्तमसिंह,हरप्रीतसिंह,गुरमेलसिंहमान,कुलविदरसिंह,राजिदरसिंह,जीतसिंह,सुखमंदरसिंह,गुरवीरसिंह,भगवंतसिंह,कश्मीरसिंह,रछपालसिंह,बलविदरसिंह,बोहड़सिंह,किशोरसिंहआदिउपस्थितथे।

ਪੰਜਾਬੀਵਿਚਖ਼ਬਰਾਂਪੜ੍ਹਨਲਈਇੱਥੇਕਲਿੱਕਕਰੋ!