गजरौला:गुरुकादर्जाबहुतहीसम्मानितहै,इनकेबगैरसंसारमेंज्ञानमिलताकठिनहै।यहबातशिक्षक-शिक्षिकाओंकेप्रशिक्षणकेशुभारंभपरडॉ.एमएसरेनेकही।

गुरुवारकोजुबिलेंटआफिसर्सवेल्फेयरक्लबभरतियाग्राममेंजुबिलेंटफाउंडेशनद्वाराब्लाकक्षेत्रके55प्राथमिकएवंउच्चप्राथमिकविद्यालयकेअध्यापकएवंअध्यापिकाओंकोएकदिवसीयप्रशिक्षणदियागया।इसकाशुभारंभडॉ.एमएसरेनेकिया।शिक्षकोंसेअपनेदायित्वोंकानिर्वहनईमानदारीसेकरतेहुएबच्चोंकोशिक्षितकरनेपरजोरदिया।चूंकिबच्चाकच्चेघड़ेकेसमानहोताहै,जिसेजैसापकायाजाताहै,वहउतनाहीमजबूतबनताहै।सुरेशगुप्तानेस्वच्छताकेप्रतिजागरूककिया।कहाविद्यालयमेंसभीबच्चोंकोबतायाजाएकिवहखानाखानेसेपहलेहाथोंकोसाबुनसेठीकधोये।जिससेहमसबबीमारीसेबचसकतेहैं।

इसकेसाथहीउन्होंनेशौचालयोंकाप्रयोगकरनेदेशकोखुलेमेंशौचमुक्तबनानेकाआह्वानकिया।सुनीलदीक्षितनेकहाकिशिक्षाहीसफलताकीकुंजीहै।इसलिएअध्यापकोंकीजिम्मेदारीबनतीहैकिमेहनतसेछात्रोंकोशिक्षादें।यहांविपिनचौधरी,श्वेतासक्सेना,मिथलेशकुमारी,अमरजीतयादव,नवनीतसिंह,हेमराजसिंह,बूंदीसिंहआदिमौजूदरहे।