संवादसहयोगी,बटाला:गांवमलूकवालीमेंएकऔरगुरुद्वारासाहिबकानिर्माणशुरूहोनेपरपहलेसेबनेगुरुद्वारासाहिबकेप्रबंधकोंनेनिर्माणरोकदिया।जानकारीकेअनुसारगांवमेंपहलेसेहीरामगढि़याबिरादरीसेसंबंधितगुरुद्वारासाहिबहैऔरअबजटबिरादरीकेलोगएकऔरगुरुद्वारासाहिबकानिर्माणकरनेकायत्नकररहेहैं।

इससंबंधमेंजटसिखबिरादारीसेसंबंधितबाबासुरिदरसिंह,रणजीतसिंह,कशमीरसिंह,भगवंतसिंह,सुखराजसिंह,तरसेमसिंह,सुखविदरसिंह,मनजीतसिंहनेबतायाकिवेएकगुरुद्वारासाहिबमेंनवउसारीकरवारहेथे,लेकिनरामगढि़याबिरादरीनेइसपररोकलगादीऔरकहाकिपहलेसेबनागुरुद्वारासाहिबउनकेनामपररजिस्टर्डहैऔरइसमेंउनकीदख्लअंदाजीबर्दाशतनहींकीजाएगी।उन्होंनेकहाकिसंगतकीमांगहैकिगांवमेंगुरुद्वारासाहिबकीनवउसारीकरवाईजाएऔरगुरुद्वारासाहिबएकहो।दूसरीओररामगढि़याबिरादरीकेअमरजीतसिंह,कश्मीरसिंह,दिलबागसिंह,सुखजीतसिंह,पालसिंह,सुखदेवसिंह,हरदीपसिंह,रतनसिंह,इंद्रजीतसिंहनेबतायाकिविवादइसीकारणहुआहै।गुरुद्वारासाहिबरामगढि़याबिरादरीकेनामपररजिस्टर्डहै,जबकियहलोगएकऔरगुरुद्वारासाहिबबनानाचाहतेहैं,जिन्हेंरोकागयाहै।एकगांवमेंगुरुद्वारासाहिबएकहीहोनाचाहिए,ताकिसमूहसंगतनतमस्तकहोसकेऔरसेवाकरसके।