कानपुर,जेएनएन।जालौनजनपदकेकदौराथानाक्षेत्रकेग्रामनाकामें24सालपहलेयुवककीगोलीमारकरहत्याकेमामलेमेंगुरुवारकोडकैतीकोर्टमेंफैसलासुनायागया।मुकदमेमेंमुख्यआरोपितकदौराथानाकेतत्कालीनएसओकोन्यायाधीशनेदोषीकरारदियाहै।उन्हेंआजीवनआजीवनकारावासएवंजुर्मानेकीसजासुनाईगईहै।आरोपितउपनिरीक्षकपदसेसेवानिवृत्तहोचुकेहैं।

ग्रामनाकामें12नवंबर1997कोजनकसिंहकेविरोधीरामस्वरूपशुक्लाकेसाथकदौराथानाकेतत्कालीनएसओराजेशद्विवेदीनेहमराहीपुलिसकर्मियोंकेसाथदबिशदी।जनकसिंहकापुत्रप्रदुम्नघरकेभीतरकमरेमेंसोरहाथा।प्रदुम्नकोउठाकरउसेगोलीमारकरदीगई।जिससेउसकीमौतहोगईथी।घटनाकेबादआसपासकेलोगमौकेपरआगए।जिससेएसओवहांसेभागनहींपाए।घटनाकीसूचनाकेबादएसपीवएसडीएममौकेपरपहुंचेतबराजेशद्विवेदीकोछोड़ागया।

बादमेंजनकसिंहनेहत्याकेआरोपमेंएसओराजेशद्विवेदी,शिवस्वरूपसिंह,महेशमिश्रा,बलराम,रामस्वरूपशुक्ला,गणेशप्रसाद,रामपालवइद्दूकेविरुद्धहत्याकामुकदमादर्जकरायागया।सभीकोगिरफ्तारकरजेलभेजागया।मामलेकीजांचसीओबृजमोहनउदैनियाद्वाराकीगई।साक्ष्यसंकलितकरविवेचकनेकोर्टमेंआरोपपत्रदाखिलकिया।डकैतीकोर्टमेंमुकदमेकाट्रायलहुआ।करीबचौबीससालचलीसुनवाईकेबादडकैतीकोर्टकेन्यायाधीशप्रकाशतिवारीनेगुरुवारकोफैसलासुनादिया।शासकीयअधिवक्तामहेंद्रविक्रमसिंहकेअनुसारआरोपपत्रमेंआठगवाहलिखेगएथे,लेकिनकोर्टमेंपेशहोनेकेबादवेअपनेबयानसेपलटगए,परंतुमुकदमेकावादीजनकसिंहनेखुलकरगवाहीदी।साक्ष्योंकेआधारपरन्यायाधीशनेतत्कालीनएसओराजेशद्विवेदीकोदोषीकरारदियाहै,उसेआजीवनकारावासव70हजाररुपयेकेजुर्मानेकीसजासुनाईगईहै।