संवादसूत्र,जिभी:जिभी-बाहू-गाड़ागुशैणीसड़कपरपड़ेगड्ढोंकेकारणवाहनचालकोंवराहगीरोंकोदिक्कतकासामनाकरनापड़रहाहै।70सालबीतनेकेबादसड़कबदहालीकेआंसूबहारहीहै।जिलाकुल्लूकीछहऔरजिलामंडीकीआठपंचायतोंकोजोड़नेवालीसड़ककीसुधलेनेवालाकोईनहींहै।2016मेंइससड़ककोपक्काकरनेकेलिएकेंद्रसेनौकरोड़रुपयेस्वीकृतहुएहैं।इसकालोकनिर्माणविभागनेटेंडरलगाकरबाहूसेगुशैणीतक10किलोमीटरकाकामशुरूभीकरदियाहैलेकिनजिभीसेबाहूदसकिलोमीटरसड़ककीहालतदयनीयहै।जिभीसेवाहूतकपहलेसातकिलोमीटरसड़कपक्कीहुईथीमगरकईसालसेसड़ककाठीकढंगसेकामनहानेकीवजहसेजिभीसेवाहू10किलोमीटरतकटारिंगकेसाथसोलिंगभीउखड़गईहै।लोकनिर्माणविभागगड्ढोंकोमिट्टीसेभरदेताहैऔरजबबारिशहोतीहैतोसड़कोंपरकीचड़फैलजाताहै।

स्थानीयनिवासीझाबेराम,हेमराज,रामसिंह,भादरसिंह,मेहरसिंह,कलीराम,कौलराम,सेसराम,शेरसिंह,जैसिंह,भागसिंह,दलीप,दूला,खेमराजनेकहाकिसड़क1968मेंबनीहैमगर70सालबादभीसड़कपक्कीनहींहोपाईहै।इससड़ककेबादजितनीभीसड़केंनिकलीवहसभीपक्कीहोगईहैं,मगरइससड़ककीकोईसुधनहींलेरहाहै।

जिभीसेबाहूसड़ककेटेंडरआमंत्रितकिएगएथेलेकिनटेंडरलेनेकेलिएकोईभीठेकेदारनहींआया।अगलेटेंडरहोनेकेबादहीसड़कपक्कीकीजाएगी।

-हिमांशुबिष्ट,अधिशाषीअभियंता,लोकनिर्माणविभाग,बंजार।