सिद्धार्थनगर:ऐतिहासिकजिगिनाधामप्राचीनमंदिरमेंबुधवारकोश्रद्धालुओंनेमाथाटेकाऔरमेलेकाआनंदलिया।एकसप्ताहतकचलनेवालेवार्षिकमेलेकेदूसरेदिनदर्शनार्थियोंकेआनेकासिलसिलाचला।

मेलेकीसभीदुकानोंपरखरीदारोंकीभीड़दिखीं।शामहोते-होतेऐसीस्थितिबनीकिरास्ताचलनाकठिनहोगयाथा।विशेषखाजेकीखुशबूलोगोंकोअपनीओरखींचरहाथा।महिलाओंकेअलावाबच्चेभीकाफीउत्साहितदिखे।मेलेमेंलगेमौतकाकुआं,विशालझूलाजैसेमनोरंजनकेसाधनकाजहांआनंदउठातेदेखेगएतोथियेटरमेंचलरहेडांसकोदेखनेवालेयुवाओंकीभीड़लगीरही।महिलाएंसौंदर्यसामग्रीखरीदरहीथींतोबच्चोंझूलाझूलनेमगनथे।दिनभरमहंतबाबाविजयकुमारदासपूरीटीमकेसाथसक्रियरहे।

मेलाप्रभारीसंतोषकुमारयादवमयफोर्ससुरक्षाव्यवस्थामेंलगेरहे।किसीतरहकीकोईदिक्कतनआएइसकेलिएसाइकिल,बाइकस्टैंडकीव्यवस्थाअलगसेकीगईहै।

श्रद्धालुओंनेकहा

मेलेमेंआसपासक्षेत्रकेअलावानेपालवबलरामपुरसेभीश्रद्धालुयहांआतेहैं।बढ़नीकेराधेश्यामनेकहाकिपिछलेपांचवर्षसेवहअगहनमासकेशुक्लतिथिपंचमीकेदिनवहजरूरआतेहैं।मंदिरपरपूजा-अर्चनाकरतेहैं।पूरापरिवारसुखीरहताहै।तेनुआनेपालकीपुष्पानेबतायाकिबच्चोंकामुंडनकार्ययहींपरनिपटानेआतीहैं।आजदूसरेबच्चेकामुंडनकराया।डिहवाकीकुशलावती,रामभारीकीशांतिदेवीनेभीबच्चोंकामुंडनयहींकराया।कहाकिउनकापूरापरिवारआजकेदिनमंदिरमेंअवश्यआताहै।