बक्सर।बिहारलोकसेवाआयोगकी64वींसंयुक्तपरीक्षामेंबक्सरकेप्रतिभावानयुवाओंनेअपनादमखमदिखायाहै।रविवारकोजारीकिएगएपरीक्षापरिणाममेंबक्सरकेबेटीबेटियोंकेसाथबहुओंनेभीनामरोशनकियाहै।परिणामघोषितहोनेकेबादसफलअभ्यर्थियोंकेघरहोतथागांवमुहल्लोंमेंखुशीकामाहौलबनाहुआहै।बक्सरमेंप्रतियोगीपरीक्षार्थियोंकेलिएसंचालितशारदाकारखानेसेजुड़ेउपनिर्वाचनपदाधिकारीआशुतोषकुमाररायनेसभीअभ्यर्थियोंकीसफलतापरउन्हेंबधाईदीहै।

शिक्षककेपुत्रबनेसहायकनिदेशकमुरारउच्चविद्यालयकेपूर्वप्रधानाध्यापकनारायणपतितिवारीकेपुत्रअमृततिवारीनेबीपीएससीकी64वींउक्तपरीक्षामेंअपनेपहलेहीप्रयासमेंसफलताप्राप्तकरतेहुएअपनेपरिवारसहितग्रामवासियोंकोगौरवान्वितकियाहै।अमृतबतातेहैंकियूपीएससीकीपरीक्षामेंभीसम्मिलितहुएहैंजिसकापरिणामआनेवालाहै।अमृतकाचयनबीपीएससीमेंसहायकनिदेशकसमाजकल्याणविभागकेपदपरहुआहै।उनकाइसपरीक्षामें92वांरैंकप्राप्तहुआहै।माता-पिताकेसबसेबड़ेपुत्रअमृतबीटेककरनेकेबाददिल्लीमेंरहकरतैयारीकररहेथे।बच्चोंकोपढ़ाते-पढ़ातेशिक्षकशिक्षिकाबनगएअधिकारीबक्सरउच्चविद्यालयकेशिक्षकमनोजगुप्तातथाशिक्षिकाअपर्णाकुमारीकाअंचलअधिकारीकेपदपरचयनहुआहै।इसकेअतिरिक्तहकीमपुरउच्चविद्यालयकेशिक्षकअनिलपासवानकाबीपीआरओकेपदपरचयनहुआहै।इससफलताकेलिएबक्सरमाध्यमिकशिक्षकसंघकेतरफसेसभीशिक्षकोंकोबधाईदेतेहुएउनकेउज्जवलभविष्यकीकामनाकीगईहै।बतायाजारहाहैकियहसभीशिक्षकप्रतियोगीपरीक्षाओंकेलिएएमपीउच्चविद्यालयमेंहीचलाएजारहेहैंशारदाकारखानासेजुड़ेहुएथेतथाबच्चोंकोप्रतियोगीपरीक्षाओंकेलिएतैयारीकरारहेथे।बक्सरकीबहूनेतोड़ाबीपीएससीकाचक्रव्यूहसदरप्रखंडकेमझरियागांवकीबहूअंकितासिंहनेअपनेपहलेहीप्रयासमें242वांस्थानप्राप्तकररेवेन्यूऑफिसरकापोस्टप्राप्तकियाहै।पेशेसेठेकेदारतथातथाबिजलीदुकानचलानेवालेअशोकसिंहकेपुत्रप्रतीककुमारसिंहसेइसीवर्षअप्रैलमाहमें26तारीखकोहुईथी।अंकितानेगाजियाबादमेंरहकरअपनीपढ़ाईपूरीकीथी।पुत्र-वधूकीइससफलतासेउत्साहितअशोकसिंहनेजमकरबैंड-बाजाभीबजवायाउन्होंनेकहाकि,उनकीपुत्रवधूनेगर्वसेउनकासीनाचौड़ाकरदियाहै।

कृतपुराकीबेटीबनेगीराजस्वअधिकारीकृतपुराकेरहनेवालेजयरामदासकीपुत्रीनिधिज्योत्सनानेपरीक्षामेंसफलताप्राप्तकरराजस्वअधिकारीकापदप्राप्तकियाहै।निधिनेनवोदयविद्यालयबिहियासेमैट्रिकऔरपटनाकेसंतमाइकलहाईस्कूलसे12वींकीपरीक्षापासकीहै।उन्होंनेपहलेहीप्रयासमेंयहसफलतापाईहै।ज्योत्सनाकेपिताभोजपुरसमाहरणालयमेंकार्यरतहैंवहीं,मातासंजूदेवीगृहणीहैं।निधितीनबहनएकभाईहैं।एकबहनरिम्स,रांचीसेएमबीबीएसकीपढ़ाईकररहीहैं।दूसरीबहनबिजलीकंपनीमेंबतौरकनीयअभियंताकार्यरतहैं।

राजस्वसेवाअधिकारीकेपदपरचयनितहुईहैमोनिकानावानगरअंचलकेभटौलीगांवकेनिवासीतुलसीसिंहकीपौत्रीएवंहरेंद्रप्रसादसिंहकीपुत्रीमोनिकाआनंदपरीक्षामेंराजस्वसेवाअधिकारीकेपदपरचयनितहुईहैं।वर्तमानमेंमोनिकाआनंदगृहमंत्रालयमेंअधिकारीकेपदपरकार्यरतहैं।मोनिकाकीप्रारंभिकपढ़ाईपिताकेइंजीनियरिगसेवामेंकार्यरतरहनेकेकारणकईजिलोंमेंहुईएवंबीआईटीमेसरासेइन्होंनेइंजीनियरिगमेंस्नातककियाहै।उनकीसफलतापरघरवालोंकेसाथसाथग्रामीणोंनेभीखुशीव्यक्तकीहै।²ढ़इच्छाशक्तिसेसत्यप्रभाकरनेलक्ष्यपरपाईविजयनावानागरकेभटौलीगांवकेरहनेवालेनिजीनौकरीमेंकार्यरतसत्यदेवसिंहकेपुत्रसत्यप्रभाकरनेअभावोंकेबीचअपनीप्रतिभाकोनिखाराहैऔर²ढ़इच्छाशक्तिसेबीपीएससीकीपरीक्षामें908वांरैंकपाकरयहसाबितकरदियाहैकि,प्रतिभासंसाधनोंकीमोहताजनहींहोती।उनकीमांलहसियादेवीबतायाकि,उनकेपुत्रनेक्षत्रियस्कूल,आरासेमैट्रिककियाजिसकेबादए.एन.कॉलेज,पटनासेइंटरमीडिएटतथाफिरस्नातकतककीपढ़ाईकीवहमैट्रिकसेग्रेजुएशनतकफ‌र्स्टक्लाससेपासहोतेरहे।सत्यप्रभाकरनेअपनीसफलताकाश्रेयदादाजीस्व.परशुरामसिंह,गुरुजनोंतथामाता-पिताकोदियाहैवहीं,उनकीसफलतापरउनकेचाचारामछठीसिंह,शारदायादव,रवियादवकेसाथ-साथग्रामीणमुख्तारसिंह,सरदारसिंहकुशवाहा,बृजबिहारीपासवान,केश्वरप्रसाद,मुमताजअली,उदयप्रतापसिंहनेबधाईदीहै।गांवकीमिट्टीसेनिकलीप्रतिभाअबपंचायतोंकारखेगीख्याल:राजपुरप्रखंडकेसेवानिवृत्तशिक्षकमुंशीरामकेपुत्रमुकेशकुमारनेपहलेहीप्रयासमेंप्रशासनिकसेवाकीपरीक्षामेंसफलताप्राप्तकीहै।इनकीसफलतापरइन्हेंबधाईदेतेहुएराजपुरप्लसटूउच्चविद्यालयकेशिक्षकरामप्रवेशरामनेबतायाकिग्रामीणपरिवेशमेंरहकरमुकेशकुमारनेआजपूर्वउच्चविद्यालयसे2007मेंमैट्रिक,एमसीकॉलेजचौसासे2009मेंइंटरमीडिएटऔर2015मेंस्नातककीपढ़ाईपूरीकरऑफिसरबननेकेलिएप्रयासशुरूकरदिए।अपनेसपनेकोपूराकरनेकेलिएतैयारीकरनेकोवहदिल्लीचलेगए।इसीदौरानउन्होंनेबीपीएससीकी64वींसंयुक्तपरीक्षामेंभागलिया।हालांकि,इनकेमुताबिकअच्छारैंकतोनहींमिलालेकिन,फिलहालवहपंचायतीराजपदाधिकारीकेपदपरचयनितकरलिएगएहैं।इनकीसफलतापरपरिवारसहितगांवकेलोगभीकाफीगौरवान्वितहै।इनकीमांबेदामीदेवीजोकिएककुशलगृहणीहैंजोअपनेबेटेकीसफलतापरकाफीखुशहैं।उधरमुकेशनेबतायाकिवहआगेभीविशेषपरीक्षाकीतैयारीमेंलगेरहेंगे।साधारणपृष्ठभूमिसेआएराजीवबनेंगेअधिकारीबक्सरकेबारीटोलाकेरहनेवालेशनिकुमारकेपुत्रराजीवकुमारनेपरीक्षामेंसफलताप्राप्तकीहै।साधारणपृष्ठभूमिसेआएराजीवनेअपनीसफलताकाश्रेयअपनेमाता-पितावगुरुजनोंकीप्रेरणाकेसाथ-साथकठोरपरिश्रमबतायाहै।उन्होंनेकहाकिव्यक्तियदिपरिश्रमकरेंतोकोईभीलक्ष्यबड़ानहींलगेगा।