संवादसहयोगी,तपाबरनाला:विगतवीरवारकोकस्बाशैहणाकेअधीनपड़तेगांवसुखपुरामौड़मेंस्थितकब्रिस्तानमेंखुदकोआगलगानेवाले30वर्षीययुवकपरमजीतसिंहकीशुक्रवारसुबहचंडीगढ़केपीजीआईअस्पतालमेंमौतहोगई।परमजीतसिंहपुत्रसुखपालसिंहनिवासीसुखपुराविवाहितथावअपनेमाता-पितासेअलगअपनीपत्नीकेसाथरहताथा।उनकीदोवर्षकीएकबेटीभीहै।परमजीतसिंहगांवमेंहीलकड़ीकामिस्त्रीथावअबएकदुकानपरएल्यूमिनियमकेदरवाजेलगानेकाकामसीखरहाथा।कामकाजनहोनेकेकारणवहमानसिकतौरपरपरेशानचलरहाथा।इसीकेचलतेउसनेवीरवारकोगांवकेकब्रिस्तानमेंखुदपरपैट्रोलछिड़कलाइटरसेआगलगालीथी।जिसकेबादगांवकेलोगोंनेउसकीचीखेंसुनकरकब्रिस्तानकीचारदीवारीकातालातोड़करबाहरनिकालसिविलअस्पतालतपामेंइलाजकेलिएभर्तीकरवायाथाकिंतुउसकीगंभीरहालतकेचलतेडाक्टरोंनेउसेसरकारीअस्पतालसेक्टर-32चंडीगढ़रेफरकरदियाथा।सेक्टर-32केडाक्टरोंनेभीउसकीगंभीरहालतकेचलतेउसेपीजीआईरेफरकरदियाथाजहांशुक्रवारसुबहउसकीमौतहोगई।पुलिसनेमृतकपरमजीतसिंहकीमातागुरदीपकौरकेबयानोंकेआधारपर174कीकार्रवाईकरलाशवारिसोंकोसौंपदीहै।

गांवकीपंचायतवअन्यलोगोंनेप्रशासनसेमांगकीकिमृतककीपत्नीकोसरकारीनौकरीवबनतामुआवजादियाजाएताकिमृतककीपत्नीअपनावअपनीबेटीकापालन-पोषणकरसके।