संवादसहयोगी,सुंदरबनी:केंद्रीयविद्यालयमें35सालचारमहीनेकीबेदागनौकरीकरनेकेबादखेलशिक्षाअधिकारीनसीबसिंहशनिवारकोसेवानिवृत्तहोगए।नसीबसिंहने10दिसंबर1986कोखेलशिक्षककेपदपरसेवाशुरूकीथी।इसमौकेपरकेंद्रीयविद्यालयसुंदरबनीमेंशनिवारकोनसीबसिंहकेसेवानिवृत्तहोनेपरएकभव्यकार्यक्रमकाआयोजनकियागया।इसमौकेपरकेंद्रीयविद्यालयकेप्रिसिपलडा.रामकुमारनेसेवानिवृत्तहुएनसीबसिंहचिबकोशालओढ़ाकरवगुलदस्ताएवंउपहारदेकरसम्मानितकिया।

इसअवसरपरप्रिसिपलडा.रामकुमारनेकहाकि35सालतकशिक्षाविभागमेंईमानदारीकेसाथनसीबकीओरसेदीगईसेवाएंयादरखीजाएंगी।उन्होंनेकहाकहाकिनसीबसिंहएकबेहतरखेलशिक्षकहोनेकेसाथ-साथसामाजिकव्यक्तिकेतौरपरभीसमाजमेंजानेजातेहैं।अपनेसेवाकालमेंइन्होंनेजहां-जहांभीसेवाएंदीं,उनस्कूलोंकोइन्होंनेअच्छेमुकामतकपहुंचानेमेंदिन-रातमेहनतकी।

बतादेंकिखेलकेक्षेत्रमेंबेहतरीनप्रदर्शनकरनेपरनसीबसिंहकोजम्मूसंभागमेंअवार्डसेनवाजागयाथा।युवाओंकोखेलकेक्षेत्रमेंबढ़ावादेनेकेलिएनसीबसिंहनेकईमहत्वपूर्णकदमउठाए।भारतस्काउटगाइडमेंभीउन्हेंडिवीजनलेवलअवार्डसेनवाजागयाथा।35सालकेकार्यकालमेंनसीबसिंहनेस्विमिग,क्रिकेट,कबड्डीजैसेखेलोंमेंनेशनलकोचकेतौरपरभीमहत्वपूर्णभूमिकानिभाई।वहभारतस्काउटगाइडमेंपिछलेलंबेसमयसेडिविजनलकमिश्नरट्रेनरकेतौरपरकामकररहेथे।सुंदरबनीमेंकेंद्रीयविद्यालयखुलनेपरभीनसीबसिंहनेमहत्वपूर्णभूमिकानिभाईथी।

विदाईसमारोहमेंनसीबसिंहचिबनेकहाकिशिक्षाविभागकोजबभीहमारीजरूरतहोगी,मैंहरसमयशिक्षाविभागकेलिएमौजूदरहूंगा।इसमौकेपरसुंदरबनीकेएडीसीविनोदकुमार,नायबतहसीलदारअशोककुमारसहितकाफीसंख्यामेंस्कूलशिक्षकऔरगणमान्यलोगमौजूदरहे।