जागरणटीम,कतरास/बाघमारा/लोयाबाद/तेतुलमारी:कतरास-बाघमाराकोयलांचलकेकोयलाखदानोंमेंनिजीकोलियरीमालिकोंकेसमयसेहीखदानकेमुहानेपरमांकालीकामंदिरस्थापितरहाहै।खानमालिक,मजदूरयाफिरअधिकारीजोभीखदानपरआतेथे,वेपहलेमांकालीकेमंदिरमेंसिरझुकातेथे।उसकेबादहीखदानोंमेंप्रवेशकरतेथे।कोयलाखदानोंकेराष्ट्रीयकरणकेबादभीयहपरंपराआजभीचलीआरहीहै।प्राय:सभीभूमिगतखदानोंवउत्खननपरियोजनाओंमेंमांकालीकामंदिरस्थापितहै।मजदूरों,अधिकारियोंयाआसपासरहनेवालेलोगोंकीयहअटूटआस्थाहैकिमांकालीकोप्रणामकरखदानोंमेंजानेसेदुर्घटनाहोनेकीआशंकानाकेबराबररहतीहै।मांकीकृपाखदानोंमेंकामकरनेवालेलोगोंपरहमेशाबनीरहतीहै।ब्लाकदोक्षेत्रकेजमुनियाहाजिरीघरकेपासमांकालीकाभव्यमंदिरहै।इसमंदिरमेंप्रतिदिनसुबहशामआरतीपूजानियमितरूपसेहोतीहै।हरमजदूरवअधिकारीमांकाआशीर्वादलेनेकेबादहीकामपरजातेहैं।बेनीडीहमेंभीमांकामंदिरस्थापितहै।इधरकतरासक्षेत्रकेरामकनालीकोलियरीकेतीनखदानोंकेबीचमेंमांरक्षाकालीकीमंदिरस्थापितहै।जहांप्रतिवर्षधूमधामकेसाथपूजाअर्चनाकीजातीहै।महाप्रसादवितरणकेसमयआसपासकेलोगोंकीभीड़उमड़पड़तीहै।गोविदपुरक्षेत्रकेआकाशकिनारी,भटमुरनामेंभीमंदिरहैजहांनियमितपूजाहोतीहै।लोयाबादतीननंबरस्थितकालीमंदिरसौवर्षपुरानासिद्धिमंदिरहै।श्रद्धालुओंकीयहांपरमनोकामनाएंपूरीहोतीहैं।लोगोंकामानेतोजोभीइसमंदिरमेंमन्नतेंमांगतेहैंउसकीमुरादेंपूरीहोतीहै।पूजासमितिद्वाराप्रतिवर्षयहांमांकीपूजाकरतेहैं।यहांमेलाऔरकईकार्यक्रमकाआयोजनकियाजाताहै।मंदिरकीमरम्मतिकरनेवालाबाबाबालकदासनेबतायाकिवेपिछले40वर्षोंमेंमांकीसेवाकरतेआरहेहैं।तेतुलमारीकेपांडेयडीहस्थितबेलदारीबस्तीकेमांकालीकामंदिरआस्थाऔरविश्वासकेप्रतीकहै।ग्रामीणअशोकचौहाननेबतायाकिइसमंदिरकानिर्माण45वर्षपूर्वहुआथा।यहांपरतेतुलमुड़ी,सिजुआ,जोगता,श्यामबाजारसहितअन्यजगहोंकेलोगपूजाकरनेआतेहैं।यहांसभीकीमन्नतेंपूरीहोतीहै।प्रत्येकअमावस्याकीरातमेंश्रद्धालुओंयहांसाधनाकरतेहैं।