संवादसूत्र,खडूरसाहिब:जम्हूरीकिसानसभा(पंजाब)कीओरगांवतुड़केगुरुद्वारासाहिबमेंफतेहरैलीकीगई।रैलीकीअध्यक्षताअजीतसिंहढोटा,मनजीतसिंहबग्गू,रेशमसिंहफैलोके,जंगबहादुरसिंहतुड़नेकी।इसमौकेपरलोगोंकोसंबोधितकरतेहुएप्रदेशअध्यक्षडा.सतनामसिंहअजनालानेकहाकितीनकृषिकानूनोंकेखिलाफदिल्लीकेबार्डरोंपरचलेआंदोलनदौरानसंयुक्तकिसानमोर्चेकीएतिहासिकजीतमेंसभीलोगोंकायोगदानरहाहै।

उन्होंनेकहाकिकिसानसंघर्षनेजहांआपसीएकतादिखाईहै,वहींलोगोंमेंराजनीतिकचेतनाभीपैदाकीहै।उन्होंनेकहाकिराज्यकीसत्तापरराजकरनेवालेनेताओंनेपंजाबकोबर्बादीकेकिनारेखड़ाकरदियाहै।इसदौरानलखमीरसिंहमस्तकाहलवावालोंनेकविश्रीगायनकरकेसभीकोनिहालकिया।इसमौकेकिसानीसंघर्षसेवापसलौटेगांवतुड़वअन्यगांवोंकेलोगोंकोसम्मानपत्रदेकरसम्मानितकियागया।जम्हूरीकिसानसभाकेप्रेससचिवप्रगटसिंहजामाराय,शहीदभगतसिंहनौजवानसभाप्रदेशसचिवतरमिदरसिंहमुकेरिया,सुलखणसिंहतुड़,मुख्तारसिंहमल्लानेभीसंबोधितकिया।इसमौकेपरसरपंचदयालसिंह,पंचायतमेंबरनिर्मलसिंह,डा.अमरजीतसिंह,कश्मीरसिंह,नछत्तरसिंह,सरवणसिंह,गुरजिदरसिंह,सोनू,लखविदरसिंह,भागसिंह,प्रगटसिंहढोटियां,पूर्वसरपंचकुलदीपसिंहजामाराय,गांवचक्कमहिरकेरणजीतसिंहराणा,आजादकिसानसंघर्षकमेटीकेनेतासुखदेवसिंहतुड़,मुख्तारसिंहघड़का,डा.परमजीतसिंहकोट,दारासिंह,चिलमनसिंह,देहातीमजदूरसभाकेनेतानिर्मलसिंह,बलदेवसिंहभैल,जसबीरसिंहवैरोवाल,सुखवंतसिंहछापड़ीसाहिब,गुरभेजसिंहढोटियांमौजूदथे।