रोहतास।नागरिकताअधिनियमभारतमेंपहलेसेहीलागूहै।उसमेंजरूरतकेअनुसारसमय-समयपरसंशोधनहोतेरहताहै।इसबारभीकानूनमेंसंशोधनकरपाकिस्तान,बंगलादेशवअफगानिस्तानमेंप्रताड़ितहुएअल्पसंख्यकोंनागरिकतादेनेकाप्रावधानकियागयाहै।स्थानीयजिलाकार्यालयमेंमंगलवारकोभारतीयजनतापार्टीकीबैठककेदौरानजिलाध्यक्षसुशीलकुमारनेयहबातेंकही।कहाकिइसकानूनसेकिसीकानुकसाननहींहोगा,बल्किउनकाभलाहोगा,जोशरणार्थीइसकानूनकेअभावमेंवर्षोंसेजिल्लतकीजिदगीजीनेकोअभिशप्तथे।

जिलाध्यक्षनेकहाकिसंगठनमेंपदकादायित्वएकनियमकाप्रवाहहै।मुख्यकार्यसंगठनद्वारातयकिएगएकार्यक्रमोंकासफलतापूर्वकनिर्वहनहै।इससेपूर्वकार्यकर्ताओंनेफूलमालापहनाकरनवनियुक्तजिलाध्यक्षकास्वागतकिया।संचालनअशोकसाहनेकिया।

मौकेपरप्रदेशसहसंगठनमंत्रीशिवनारायण,पूर्वविधायकजवाहरप्रसाद,बलिराममिश्र,डॉ.सचिन,प्रमोदसिंह,मदनवैश्य,सुधीरसिंह,विजयसिंह,संतोषपटेल,अरुणपांडेय,अमृतासिंहडिपल,विशुसिंह,अजययादव,मंगलानंदपाठक,मंटूयादव,उदयपांडेय,संजयवैश्य,प्रभाकरतिवारी,सत्यनारायणपासवान,डॉ.शिवनाथचौधरी,सत्येंद्रसिंह,सरताजहुसैन,देवेंद्रपांडेय,अमितमंगल,हरेंद्रचंद्रवंशी,रविद्रसिंह,जितेंद्रसिंह,अखिलेशसिंह,रेखानागमणि,सुधीरचंद्रवंशी,अजयओझासमेतअन्यउपस्थितथे।