संवादसूत्र,दिबियापुर:कभी-कभीबदनसीबीइतनेपीछेपड़जातीहैकिजिदगीकेबादभीपीछानहींछोड़ती।ऐसाहीहुआएकमहिलाकेसाथजिसकीमौतलावारिसमेंहुई।नौदिनबादपहचानतकनहींहोसकी।पहचानतोछोड़िएअंतिमसंस्कारतकनहींहोपारहाहै।नौदिनमेंस्वास्थ्यविभागशवकीकोरोनाजांचतकनहींकरासकाहै।जीआरपीचौकीप्रभारीनेसीएमओकोपत्रलिखकरजल्दपोस्टमार्टमकरनेकाअनुरोधकियाहै।

दोजूनकोफफूंदरेलवेस्टेशनकेपूर्वीकेबिनकेसमीपएक25वर्षीयमहिलाकाशवरेलवेट्रैकपरमिलाथा।ट्रेनसेकटकरमौतहोनेकीसंभावनाव्यक्तकीगई।पहचाननहोपानेकेकारणशवमोच्र्युरीमेंरखदियागया।तीनदिनबादकोरोनाजांचकेलिएसैंपलभेजागया।अबकोरोनाजांचकानमूनाफेलहोगयाऔररिपीटमांगागया।इसपरमहिलाकाफिरसेकोरोनाजांचकासैंपलभेजागया।नौदिनबादतोशवखराबहोगयाहोगा।जीआरपीचौकीप्रभारीराजेशगौतमनेजिलेकेमुख्यचिकित्साअधिकारीकोपत्रलिखकरपोस्टमार्टमकरानेकीगुहारलगाईहै।मुख्यचिकित्साअधिकारीअर्चनाश्रीवास्तवनेबतायाजांचरिपोर्टपेंडिगहै।रिपोर्टआतेहीशवकापोस्टमार्टमकरायाजाएगा।