लोकसभाचुनावकीआहटतेजहोतेहीअखिलेशसरकारनेगरीबोंकोअपनेपालेमेंकरनेकेलिएबड़ासियासीदांवचलाहै.रानीलक्ष्मीबाईपेंशनयोजनाकोबंदकरसरकारवित्तीयवर्ष2014-15सेप्रदेशके40लाखगरीबपरिवारोंकेलिए'समाजवादीपेंशनयोजना'शुरूकरनेजारहीहै.

समाजवादीपेंशनयोजनाकानसिर्फदायराबड़ाहोगाबल्किइसकेतहतमिलनेवालीपेंशनभीअन्ययोजनाओंकेमुकाबलेज्यादाहोगी.समाजकल्याणविभागकेइसप्रस्तावकोमंगलवारकोहोनेवालीकैबिनेटकीबैठकमेंमंजूरीमिलसकतीहै.15जनवरी2010कोमायावतीराजमेंशुरूकीगईमहामायागरीबआर्थिकमददयोजनाकानामबदलकरअखिलेशसरकारनेनौजुलाई2012कोरानीलक्ष्मीबाईपेंशनयोजनाशुरूकीथी.

इसयोजनाकेतहतचयनितप्रदेशके25लाखपरिवारोंमेंसेप्रत्येककोदोछमाहीकिस्तोंमें400रुपयेप्रतिमाहकीदरसेपेंशनदीजातीहै.चुनावकीआहटतेजहोतेहीअखिलेशसरकारनेइसयोजनाकोसमाजवादीरंगमेंरंगनेकाफैसलाकियाहै.चुनावीबेलामेंखुदकोगरीबोंकाखैरख्वाहसाबितकरनेमेंजुटीसरकारसमाजवादीपेंशनयोजनाकेतहतचयनितपरिवारकोहरमहीनेई-पेमेंटकेमाध्यमसे500रुपयेप्रतिमाहदेगी.

योजनाकीशर्तेपूरीकरनेपरहरसालपेंशनमें50रुपयेकीबढ़ोत्तरीहोगीलेकिनपेंशनकीअधिकतमराशि750रुपयेहोगी.जिनपरिवारोंकोरानीलक्ष्मीबाईपेंशनयोजनाकालाभमिलरहाहोऔरजोइसयोजनाकेलिएअयोग्यनहों,उन्हेंनईयोजनामेंशामिलकियाजाएगा.

इसकेअलावाउनगरीबपरिवारोंकोवरीयतादीजाएगीजिनकीमुखियाविधवायातलाकशुदामहिलाया50प्रतिशतसेअधिकविकलांगतासेग्रसितवृद्घपुरुषहों.