संसू,हाथरस:सिकंदराराऊमेंशारदीयनवरात्रकेपहलेदिनसभीदेवीमंदिरोंमेंआस्थाकासमंदरहिलोरेंलेरहाथा।भक्तोंकीभीड़मंदिरोंमेंतड़केसेहीउमड़पड़ी।आस्थावानोंनेशक्तिस्वरूपाकेदरबारमेंनारियल,चुनरीवफूलमालाअर्पितकरशीशझुकायाऔरपरिवारकेसुखसमृद्धिकीकामनाकी।नौदिनकाव्रतरखनेवालेलोगोंनेघरपरकलशएवंचौकीकीस्थापनाकी।

नगरकेमोहल्लानगलाशीशगरस्थितपथवारीमाताकेदरबारमेंश्रद्धालुओंकीसुबहसेहीलाइनलगगई।माकादर्शनकरनेकेलिएश्रद्धालुश्रद्धापूर्वकअपनीबारीकीप्रतीक्षाकरतेदेखेगए।दर्शनार्थियोंनेफूलमाला,धूप-दीपआदिअर्पितकरमासेपरिवारमेंसुखसमृद्धिकीकामनाकी।मंदिरमेंघटे-घड़ियालोंकीगूंजकेबीचजयकारेसुनाईदेरहेथे।इसीतरहनगरकेसिद्धपीठचामुंडामातामंदिरएवंकालीमंदिरतथाअन्यसभीदेवीमंदिरोंपरभीश्रद्धालुओंकीभीड़रही।वातावरणमेंअग्यारीएवंधूपकीसौगंधघुलीहुईथी।गावटीकरीकलास्थितमंदिरश्रीद्वारकाधीशमहाराजपरनौदिनचलनेवालीअखंडरामायणपाठकारविवारकोशुभारम्भहुआ।मंदिरकेसेवाकारपंडितब्रह्मदेवशर्माकेसानिध्यमेंआचार्यवेंकटेश्वरभारद्वाजनेविधिवतपूजाअर्चनाकराई।युवासमाजसेवीगौरवभारद्वाजएडवोकेटनेसपत्‍‌नीकपूजाअर्चनाकी।