महानायकथेबाबूवीरकुंवरसिंह:जयंतसिन्हा

संवादसहयोगीहजारीबाग:बाबूवीरकुंवरसिंहकीजयंतीपरशनिवारकोशहरकेजप्रतिनिधियों,समाजसेवियोंवबुद्धिजीवियोंद्वारास्थानीयपरिसदनचौककेसमीपस्थापितउनकीप्रतिमापरमाल्यार्पणकियागया।सांसदजयंतसिन्हा,सदरविधायकमनीषजायसवालसहितगणमान्योंनेनमनकिया।जयंतसिन्हानेकहाकिबाबूकुंवरसिंहमहानायकथे।हरवर्गकेलोगोंकाउनसेप्रेरणालेनीचाहिए।इसदौरानउन्होंने15लाखरुपयेसामुदायिकभवनकेनिर्माणकेलिएसांसदमदसेदेनेकीघोषणाकी।विधायकमनीषजायसवालनेकहाकिबाबूकुंवरसिंहसन1857केप्रथमभारतीयस्वतंत्रतासंग्रामकेसिपाहीऔरमहानायकथे।वेअन्यायविरोधीवस्वतंत्रताप्रेमीबाबूकुंवरसिंहकुशलसेनानायकथे।इनको80वर्षकीउम्रमेंभीलड़नेतथाविजयहासिलकरनेकेलिएजानाजाताहैसाथहीहौसलाउम्रनहींदेखतीहैंइसकेअप्रतिमउदाहरणहैंबाबूकुंवरसिंहकीसंघर्षपूर्णजिंदगी।मौकेपरउदयभाननारायणसिंह,मुन्नासिंह,शत्रुधनसिंह,भैयाअभिमन्युप्रसाद,जयशंकरपाठक,मिथलेशसिंह,अवधेशसिंह,अर्जुनसिंह,प्रवीणसिंह,दीपकसिंह,करणसिंह,वीरेंद्रसिंह,दिनेशसिंहराठौर,सुनीलसिंहराठौर,शशिसिंह,अजयसिंह,अनिरुद्धसिंह,भगवानसिंह,शंभूसिंह,उपेंद्रकुशवाहा,कुंवरमनोजसिंह,बटेश्वरप्रसादमेहता,प्रो.सुकल्याणमोइत्रा,बिनोदकुशवाहा,पूर्वडिप्टीमेयरआनंददेव,डा.मिथलेशकुमार,मनोजगोयल,आनंदसिंह,बबलूसिंह,प्रेमशंकरसिंह,शिवदयालसिंह,प्रोप्रमोदसिंह,सुबोधसिंहशिवगीत,संजयसिंह,संजयतिवारी,विकाससिंह,रंजनचौधरी,रविसिंह,मनोजगोयल,संजयतिवारीसहितअन्यगणमान्यलोगमौजूदरहे।