संवादसहयोगी,मुकेरियां:शूरवीरयोद्धामहाराणाप्रतापकीपुण्यतिथिपरमहाराणाप्रतापभवनमेंकार्यक्रमकरवायागया।इसमेंयुवाराजपूतसभाकेअध्यक्षवकरणीसेनापंजाबकेयुवाअध्यक्षवैनीमिनहासनेश्रद्धांजलिदी।विशेषरूपसेशामिलहुएप्रदेशअध्यक्षकरणीसेनापंजाबराणानरोत्तमसिंहसाबा,राजपूतसभाकेप्रधानअरिदमनमिनहासनेमहाराणाप्रतापकीतस्वीरकेसमक्षपुष्पअर्पितकरतेकहाकिमहाराणाप्रतापएकजातिविशेषकेनहीं,बल्किदेशकेलिएअपनीआनबानऔरशानकीलड़ाईजीवनभरलड़तेरहे।उन्होंनेहल्दीघाटीकेयुद्धमेंमुगलोंकेदांतखट्टेकरदिएजबकिउससमयकईऐसेशक्तिशालीराजाओंनेमुगलोंकेशासनकोस्वीकारकरलियाथा,लेकिनमहाराणाप्रतापमात्रबीसहजारसेनाकेसाथहीअस्सीहजारमुगलोंकोभगादिया।महाराणाप्रतापवउनकेपरिवारनेजंगलोंमेंघासकीरोटीकोखानापसंदकिया,लेकिनमुगलोंकेशासनकोस्वीकारनहींकिया।इसअवसरपरबिल्लासनियाला,राहुलशर्मा,निशांतचिव,अर्पितबागोवाल,रोकीकालामंझउपस्थितथे।

आंदोलनमेंजानगवानेवालेकिसानोंकोकैंडलमार्चसेदीश्रद्धांजलि

माहिलपुरमेंकृषिसुधारकानूनोंकोरदकरानेकेलिएदिल्लीबार्डरपरआंदोलनमेंशहीदहुएकिसानोंकोश्रद्धांजलिदेनेकेलिएआमआदमीपार्टीचब्बेवालकेवर्करोंनेकैंडलमार्चनिकाला।इसअवसरपरमोदीसरकारकेखिलाफनारेबाजीकरतेहुएपार्टीकेचब्बेवालहलकेकेइंचार्जहरमिदरसिंहसंधूनेकहाकिमोदीसरकारकानूनरदकरनेकेबजायअड़ियलरवैयाअपनाकरकिसानविरोधीहोनेकासुबूतदेरहीहै।कैंडलमार्चमेंसुरिदरपालसिंहसंधू,मोहनलालचित्तो,सूबेदारसुखविदरसिंह,नरिदरसिंहबड़ेला,दीदारसिंह,संजीवकुमार,जतिदरजसवाल,सतविदरसिंह,नरिदरनीटा,परमजीतसिंह,परमिदरलालशामिलहुए।