जागरणसंवाददाता,कोटद्वार:कोरोनासंक्रमणकोलेकरआमजनमेंव्याप्तडरशनिवारकोमाताकेमंदिरोंमेंभीनजरआया।बीतेवर्षोंसेअलगइसमर्तबामंदिरोंमेंश्रद्धालुओंकीभारीभीड़नजरनहींआई।अलबत्ता,आमजननेघरोंमेंपूर्णश्रद्धाभावकेसाथकलशस्थापनाकी।

शनिवारकोश्रद्धालुओंनेमाताकेप्रथमरूपशैलपुत्रीकीपूजा-अर्चनाकी।क्षेत्रकेदेवीमंदिर,दुर्गामंदिर,संतोषीमातामंदिर,बालाजीमंदिर,सिदूरादेवी,नवदुर्गामंदिरसहितअन्यमंदिरोंमेंसुबहसेहीश्रद्धालुओं'जयमातादी'कागुणगानकरतेहुएपूजा-अर्चनाकरनेकेलिएपहुंचे।श्रद्धालुओंनेघरमेंकलशस्थापितकरविधिवतमांकीपूजाअर्चनावपाठशुरूकरदिया।

उधर,प्रसिद्धसिद्धपीठज्वाल्पाधाममेंसुबहसेहीश्रद्धालुपहुंचनेलगेथे।दोपहरबादतकश्रद्धालुओंनेमाताकेमंदिरमेंजाकरशीशनवाया।नवरात्रोंकेदौरानमंदिरमेंविशेषपूजा-अर्चनाहोतीहै।

नलगाटीका,नबजाईगईघंटियां

कोरोनासंक्रमणकीरोकथामकोमंदिरोंमेंविशेषप्रबंधकिएगएथे।अन्यवर्षोंमेंजहांपुजारीमंदिरमेंपहुंचेश्रद्धालुओंकेमाथेपरटीकालगातेनजरआतेथे,इसवर्षमंदिरोंमेंटीकानहींलगायाजारहाथा।मंदिरोंमेंघंटियांबजानेकीभीमनाहीथी।साथहीमंदिरमेंकिसीभीवस्तुकोनछूनेकेस्पष्टनिर्देशजारीकिएगएथे।श्रद्धालुभीमाताकेलिएलाईगईभेंटकोपुजारीकेहाथमेंदेनेकेबजायसीधेथालमेंहीचढ़ारहेथे।