नागपंचमी(NagPanchami)केमौकेपरएकसालबादउज्जैनमेंफेमसनागचंद्रेश्वरमंदिरकेपटभक्तोंकेलिएखोलदिएगएहैं.गुरुवाररात12बजेहीमंदिरकेपटखोलदिएगए.इसदौरानश्रीनागचंद्रेश्वर(Nagchandreshwar)कीप्रतिमाकेबादगर्भगृहमेंभगवाननागचंद्रेश्वरकेशिवलिंगकाभीपूजनकियागया.मंदिरकेपटखुलनेकेबादपहलीपूजाश्रीपंचायतीमहानिर्वाणीअखाड़ेकेमहंतविनीतगिरीऔरमंदिरसमितिकेप्रशासकनरेंद्रसूर्यवंशीनेकी.

कोरोनामहामारी(CoronaPandemic)कीवजहसेश्रद्धालुओंकोमंदिरमेंप्रवेशकीअनुमतिनहींहै.इसीलिएऑनलाइनदर्शन(OnlineDarshan)कीशुरुआतकीगईहै.महाकालमंदिरकीमोबाइलऐपपरलाइवदर्शनकिएजासकतेहैं.इसलिएश्रद्धालुओंकोमंदिरकीऑफिशियलवेबसाइटपरजानाहोगा.आजनागपंचमीकेमौकेपररात12बजेतकभगवाननागचंद्रेश्वरकेलाइवदर्शनकिएजासकेंगे.

मंदिरमेंऑनलाइनदर्शनकोहीमंजूरी

दर्शनकेलिएमंदिरमेंLEDभीलगाईगईहैं.खासबातयेहैकिमंदिरकेपटसालमेंएकबारसिर्फनागपंचमीकेमौकेपरहीखोलेजातेहैं.इसदौरानबड़ीसंख्यामेंश्रद्धालुदर्शनकेलिएमंदिरमेंपहुंचतेहैं.लेकिनकोरोनामहामारीकीवजहसेफिलहालमंदिरमेंश्रद्धालुओंकेदर्शनपरप्रतिबंधहै.महाकालेश्वरमंदिरकेऊपरीमंजिलपरनागचंद्रेश्वरभगवानकामंदिरबनाहुआहै.मंदिरमेंदाईंतरफभगवाननागचंद्रेश्वरकीप्रतिमास्थापितहै.यहप्रतिमामराठाकालीनकलाकाअदभुदनमूनाहैसाथहीशिवभक्तिकाप्रतीकभीहै.

मंदिरकेपटखुलतेही24घंटेतकदर्शनकिएजासकतेहैं.नागपंचमीकात्योहारसंपन्नहोतेहीमंदिरकेपटएकसालकेलिएफिरसेबंदकरदिएजातेहैं.पटबंदकरनेसेपहलेपरंपराकेहिसाबसेरात8बजेखासपूजाकीजातीहै.मंदिरकेगर्भगृहमेंशिवलिंगविराजमानहै.बाहरदीवारपर11वींशताब्दीकीदुर्लभप्रतिमाबनीहुईहै.इसमेंफनफैलाएहुएनागकेआसनपरभगवानशिव-पार्वतीबैठेहुएहैं.मानाजाताहैकियहएकमात्रप्रतिमाहै,जिसमेंभगवानशिवऔरपार्वतीशर्पपरविराजमानहैं.

हरसालपहुंचतेहैं2से3लाखश्रद्धालु

मान्यताकेमुताबिकनागपंचमीकात्योहारभगवाननागचंद्रेश्वरकेजन्मदिनकेरूपमेंमनायाजाताहै.सालमेंसिर्फएकबारमंदिरकेपटखुलनेकीवजहसेहरसाल2से3लाखश्रद्धालुदर्शनकेलिएउज्जैनपहुंचतेहैं.इससालमहामारीकीवजहसेसिर्फऑनलाइनदर्शनहीकिएजासकेंगे.ऐसीमान्यताहैकिभगवाननागचंद्रेश्वरकेदर्शनसेहीकालसर्पदोषदूरहोजाताहै.

येभीपढे़ं-मध्यप्रदेश:प्रदर्शनकररहे4नेताओंपरहुईFIRदर्ज,पुलिसनेप्रदर्शनकारियोंपरकियावॉटरकैननकाइस्तेमाल;लाठीचार्जमेंकईघायल

येभीपढे़ं-CMबदलनेकीचर्चाओंकेबीचMPमें‘सॉन्गपालिटिक्स’,कैलाशविजयवर्गीयऔरCMशिवराजनेगाया‘येदोस्तीहमनहींतोड़ेंगे’