जासं,जमशेदपुर:कहतेहैंजबकोईबड़ाकार्यकिसीघरमेंहोरहाहोतोछोटेसेछोटासहयोगभीमायनेरखताहै।भारतीयपरिवारमेंशादी-विवाहकाकार्यदान-दहेजकेचलतेइसीबड़ेकार्यकीश्रेणीमेंआजाताहै,विशेषकरकन्यापक्षकेघरमें।यहकहानीचाकुलियाप्रखंडकेगंगामनीमल्लिककीहै।लॉकडाउनमेंजबइनकेपरिवारकोआर्थिककठिनाइयोंकासामनाकरनापड़ातोइनकीशादीजोएकआदर्शविवाहथी(बिनादहेजके)उसेभीसंपन्नकरानेमेंइनकेपरिवारकोदिक्कतआरहीथी।वरपक्षवालोंनेदहेजतोनहींलिया,लेकिनइसमध्यमवर्गीयपरिवारकीबेटीकीशादीमेंजबअन्यआर्थिकजरूरतेंपूरीनहींहोपारहीथीं,तोमुख्यमंत्रीकन्यादानयोजनाइनकेलिएवरदानसाबितहुआ।

स्नातकोत्तरतकपढ़ाईकरचुकीगंगामनीमल्लिकबतातीहैंकिजबमुझेसेविकादीदीसेयहपताचलाकिमुख्यमंत्रीकन्यादानयोजनाकेतहतआवेदनकरनेपर30,00कीआर्थिकसहायताराशिप्राप्तहोजाएगी,तोमेरामनोबलबढ़ाऔरनिश्चयकियाकिअपनेमाता-पिताकोविवाहमेंआर्थिकमददसरकारद्वाराचलाएजारहेयोजनाकालाभउठाकरकरूंगी।विवाहमेंआर्थिकमददकेलिएमैंनेस्वयंहीसेविकावसुपरवाइजरदीदीकीमददसेआवेदनजमाकिया।मुझे30,000रुपयेमिले,जिससेमेरेविवाहमेंआर्थिकसहायतामिली।गंगामनीमल्लिककहतीहैंकिइसआर्थिकसहयोगसेमेरेपरिजनोंपरमेरेविवाहकेलिएआर्थिकदबावनहींबनाऔरउन्होंनेखुशी-खुशीमेरीविदाईकी।

ज्ञातहोकिमुख्यमंत्रीकन्यादानयोजनाकालाभआर्थिकरूपसेकमजोरपरिवारकीबालिकाओंकोदियाजाताहै।समाजकल्याणविभागद्वारासंचालितइसयोजनाकालाभवहीबेटियांलेसकतीहैं,जिनकीशादी18वर्षयाइससेअधिकउम्रमेंहो।