संवादसहयोगी,तलवंडीसाबो:पुरानेपंजाबीसभ्याचारकीमिठीनिशानीगांवोंमेंबनेहलटवालेखूह(कुआं)आजकेसमयलगभगअलोपहोचुकेहैं।परंतुफिरभीकुछलोगपुरातननिशानियोंकोसंभालनेकेलिएयत्नकररहेहैं,ताकिखत्महोरहेअमीरविरसेकोजीवितरखाजासके।जिलाबठिडाकेगांवजज्जलमेंसमाजसेवीवट्रकयूनियनकेप्रधानगुरविदरसिंहगोरा,उपप्रधानमनदीपसिंह,बलविदरसिंहनेकांग्रेसकेजिलाप्रधानखुशबाजसिंहजटानाकेदिशानिर्देशपरअपनेनिजीखर्चपरअपनेगांवकेविरसेकोजीवितरखनेकेयत्नशीलहैं।जिन्होंनेलगभग150सालपुरानेखूहकोनयेसिरेसेसंभालतेहुएउसकेपुरानेदृश्यकोबरकराररखाहै।इसबारेमेंगुरविदरसिंहगोरानेबतायाकिगांवमेंइस150सालपुरानेकुओंकोबंदहुए35-40सालहोगएहैं।उन्होंनेकुछसाथियोंकेसाथमिलकरकुएंकोसहीकरनेकाफैसलाकिया।उन्होंनेबतायाकिइसखूहकीमरम्मतकरवादीगईहैंऔरजोभीहमारेगांवमेंपुरानीविरासतीजगहहैंउनकोभीसंभालनेकीवहजिम्मेवारीलेतेहैं।

ਪੰਜਾਬੀਵਿਚਖ਼ਬਰਾਂਪੜ੍ਹਨਲਈਇੱਥੇਕਲਿੱਕਕਰੋ!