जागरणसंवाददाता,मथुरा:शिक्षणसंस्थानोंकीछात्रवृत्तिकोलेकरचलरहीजांचअपनेअंतिमपड़ावपरपहुंचगईहै।अभीतककरीब390शिक्षणसंस्थानोंकीरिपोर्टजांचअधिकारियोंद्वारासौंपीगईहै,जिसमेंसेअधिकांशशिक्षणसंस्थानोंमेंजांचअधिकारियोंकोएकभीकक्षाकासंचालनहोतेहुएनहींमिलाहै।जिसकेचलतेजांचअधिकारियोंनेछात्रवृत्तिआवेदनकोनिरस्तकरनेकीसंस्तुतिकीहै।

जिलेमें23करोड़रुपयेकेछात्रवृत्तिघोटालेकापर्दाफाशहोनेकेबादशासनस्तरसेसभीशिक्षणसंस्थानकेसत्यापनकेनिर्देशदिएगएथे,जिसकेआधारपरजिलेमें540शिक्षणसंस्थानकीजांचकीजिम्मेदारी40अधिकारियोंकोसौंपीगईथी।इनअधिकारियोंनेअपनी-अपनीरिपोर्टजिलासमाजकल्याणविभागकोसौंपीदीहै।मंगलवारतकजिलेकेकरीब390शिक्षणसंस्थानोंकीजांचरिपोर्टजिलासमाजकल्याणविभागकोप्राप्तहोगईहै।जांचअधिकारियोंनेबतायाकिउन्हेंअधिकांशशिक्षणसंस्थानोंमेंकक्षाओंकासंचालनहोतेहुएनहींमिलाहै।जबकक्षाओंकासंचालननहींहोरहाहैतोकिसआधारपरमानाजाएकिपंजीकृतछात्रफर्जीनहींहै।जबकिउन्होंनेशिक्षणसंस्थानसंचालकोंसेकक्षासंचालनकेसमयखुदकेआनेकीबातकहीथी,लेकिनशिक्षणसंस्थानसंचालककक्षासंचालनकीबातकोलेकरगंभीरनहींहुए।ऐसेमेंजांचअधिकारियोंनेअपनीरिपोर्टमेंसाफलिखदियाहैकिछात्रोंकीसंख्यासंदिग्धहै।इसलिएशिक्षणसंस्थानकीओरसेछात्रवृत्तिकोकिएगएआवेदनकोनिरस्तकरनेकीसंस्तुतिकीजातीहै।कोईभीअधिकारीछात्रवृत्तिजांचकेमामलेमेंखुदपरउंगलीनहींउठवानाचाहता।शासनभीमामलेकोलेकरगंभीरहै।जिलासमाजकल्याणअधिकारीरमाशंकरगुप्ताकाकहनाहैकिजोअधिकारीअपनीजांचरिपोर्टहमेंमुहैयाकरादेंगे।हमउसीजांचरिपोर्टकोशासनकोभेजदेंगे।जांचकेअनुसारहीछात्रवृत्तिकाडाटाशासनकोफारवर्डकियाजारहाहै।-अभीतक20हजारछात्रोंकाडाटाहुआहैफारवर्ड

गतवर्षोंमेंछात्रवृत्तिकोआवेदनकरनेवालोंकीसंख्या55हजारसेअधिकहोतीथी,लेकिनइसबारआवेदनकरनेवालोंकीसंख्याकरीब37हजारहै।इनमेंसेभीजिलेसेछात्रवृत्तिकेलिएमात्र20हजारछात्र-छात्राओंकाडाटाशासनकेलिएफारवर्डकियागयाहै।इसडाटामेंवहींशिक्षणसंस्थानकेछात्र-छात्राएंहैं,जिनकीजांचरिपोर्टजिलासमाजकल्याणविभागकोप्राप्तहोगईहैऔरजांचअधिकारियोंनेउनशिक्षणसंस्थानकोलेकरअपनीस्वीकृतिप्रदानकीहै।