संवादसूत्र,श्रीमुक्तसरसाहिब:जिलाप्रशासनकीहिदायतोंपरखेतीबाड़ीविभागधानतथाबासमतीकेनिपटारेलिएलगातारजागरूकतामुहिमचलारहाहै।जिलेकेकईकिसानपरालीप्रबंधनकोअपनारहेहैंऔरपरालीकोखेतोंमेंमिलारहेयाइनकीगांठेंबनारहेहैं।गांवलंडेरोड़ेकेकिसाननिभैयसिंहनेबतायाकि150एकड़रकबेमेंवहगेहूं,धानकीखेतीकरतेहैं।पिछलेछहसालसेपरालीकोआगनलगाकरगांठेंबनारहेहैं।परालीनजलानेसेउनकीखेतोंकीउर्वरकताक्षमताभीबढ़ीहै।इसकेअलावापासकेहीगांवजस्सेआना,लुबानियांवालीवकान्नियांवालीकेकिसानतोबिनापैसेलिएगांठेबनारहेहैं।इलाकेकेकिसानधानकीकटाईकेबादकटाईवालेरीपरचलाकररखलेतेहैंजिसकेऊपरनिभैयसिंहसिंहरेकतथाबेलरचलाकरगांठउठाकरखेतोंकोसाफकरदेतेहै।किसानोंकेअनुसारखेतसाफकरतेसमयजीरोटिलड्रिलमशीनकेसाथबहुतहीबढि़यागेहूंकीबुआईभीहोजातीहै।

ਪੰਜਾਬੀਵਿਚਖ਼ਬਰਾਂਪੜ੍ਹਨਲਈਇੱਥੇਕਲਿੱਕਕਰੋ!