नईदिल्ली:नोटबंदीकेदोसालपूरेहोचुकेहैं.जहांसत्तापक्षइसकेफायदेगिनारहाहैतोवहींपूराविपक्षइसेपूरीतरहविफलऔरएकआपदाबतारहाहै.पूर्वप्रधानमंत्रीऔरअर्थशास्त्रीमनमोहनसिंहनेकहाकिनोटबंदीकेघाववक्तकेसाथगहरेदिखरहेहैं.उन्होंनेकहा,''बिनासोचेसमझेनरेंद्रमोदीकीसरकारनेनोटबंदीकाजोफैसलालियाथाआजउसकीदूसरीवर्षगांठहै. भारतीयअर्थव्यवस्थाऔरसमाजकेसाथकीगईइसतबाहीकाअसरअबसभीकेसामनेस्पष्टहै.''

कांग्रेसनेतानेकहा,''नोटबंदीसेभारतकीअर्थव्यवस्थाऔरसमाजमेंजोमाहौलपैदाकियाउसेहरकोईमहसूसकररहाहै.नोटबंदीसेहरकोईचाहेवोकिसीउम्र,धर्मयापेशेकाहोसभीप्रभावितहुए.''

सिंहनेएकबयानमेंकहाकिमोदीसरकारकोअबऐसाकोईआर्थिककदमनहींउठानाचाहिएजिससेअर्थव्यवस्थाकेसंदर्भमेंअनिश्चितताकीस्थितिपैदाहो.उन्होंनेकहाकिनोटबंदीसेहरव्यक्तिप्रभावितहुआ.देशकेमझोलेऔरछोटेकारोबारअबभीनोटबंदीकीमारसेउबरनहींपाएहैं.

कांग्रेसपार्टीनेट्वीटकरकहाकिअबजबलगभगसभीपुरानेनोटरिजर्वबैंककेपासजमाहोगएहैं,तोआवश्यकहैकिमोदीइस"स्व-निर्मितआपदा"केलिएदेशवासियोंसेमाफीमांगें.गौरतलबहैकिप्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीनेआठनवंबर,2016कोनोटबंदीकीघोषणाकीजिसकेतहत,उनदिनोंचलरहे500रुपयेऔरएकहजाररुपयेकेनोटचलनसेबाहरहोगएथे.

कांग्रेसनेशुक्रवारकोनोटबंदीकीदूसरीसालगिरहपरदेशव्यापीविरोध-प्रदर्शनआयोजितकरनेकाफैसलाकियाहै.कांग्रेसअध्यक्षराहुलगांधीदिल्लीमेंआरबीआईकेबाहरप्रदर्शनकरसकतेहैं.

कांग्रेसप्रवक्तामनीषतिवारीनेट्वीटकरपिछलेदिनोंकहाथादोसालपहलेप्रधानमंत्रीनेनोटबंदीकीघोषणाकीथीऔरइसेलागूकरनेकेतीनकारणगिनाएथे.पहलाइससेकालाधनपररोकलगेगी,दूसरानकलीमुद्रापररोकलगेगीऔरतीसराआंतकवादकेवित्तपोषणपररोकलगेगी,लेकिनइसमेंसेएकभीउद्देश्यपूरानहींहुआ.