जागरणसंवाददाता,एटा:नवरात्रपर्वकेदूसरेदिनमंदिरोंमेंश्रद्धालुओंकीभीड़उमड़पड़ी।सुबहसेहीपूजाअर्चनाकरनेवालोंकातांतालगारहा।मंदिरोंमेंमांब्रह्मचारिणीकीपूजाकीगई।देवीमाताकेदर्शनकेलिएमहिलावपुरुषोंकीलंबीकतारलगीरही।मंदिरोंकेअलावाअन्यकईजगहदेवीकीप्रतिमाएंस्थापितकीगईहैं,जहांभजन,कीर्तनकिएजारहेहैं।जहांश्रद्धालुथिरकतेनजरआए।शहरकेठंडीसड़कस्थितमातापथवारीमंदिरपरबड़ीसंख्यामेंभक्तसोमवारकोपहुंचेऔरविधिवतपूजा-अर्चनाकी।इसकेअलावामाताकालीमंदिर,जनतादुर्गामंदिर,शांतिनगरस्थितमातामंदिरकेअलावाशहरकेविभिन्नस्थानोंपरपूजा-अर्चनाकेसाथमाताकेजयघोषगूंजतेरहे।

सोमवारकोभोरहोतेहीशहरकेठंडीसड़कस्थितकालीमाताएवंपथवारीमंदिरपरश्रद्धालुपहुंचनेलगे।सुबहकेवक्तमंदिरमेंदुर्गासप्तशतीकापाठतथामांकीस्तुतिसामूहिकरूपसेकीगई।भक्तोंनेहवनमेंसामूहिकआहुतियांदीं।जैसे-जैसेदिनचढ़तागया,वैसेहीश्रद्धालुओंकीभीड़बढ़तीगई।सुबहआठबजेतककालीमंदिरमेंसैकड़ोंश्रद्धालुमाताकेदर्शनकरचुकेथे।यहसिलसिलादोपहर12बजेतकअनवरतचलतारहा।इसबीचपथवारीमंदिरमेंमांकेभजनगाएजारहेथेऔरउत्साहीश्रद्धालुढोलक-मंजीरेकीथापपरथिरकरहेथे।पथवारीमंदिरकेबाहरीहिस्सेमेंबनेनएमंदिरमेंभीश्रद्धालुओंकीभीड़रही।इसमंदिरमेंशामकेवक्तसामूहिकआरतीमेंखासीभीड़उमड़ी।

जीटीरोडस्थितजनतादुर्गामंदिरमेंभीसुबहसेहीश्रद्धालुओंकीकतारलगीरही।यहमंदिरशहरकेव्यस्तचौराहेपरस्थितहै।इसलिएदिनभरगहमा-गहमीबनीरहतीहै।यहांहवनआदिकार्यक्रमप्रतिदिनहोतेहैं,जिनमेंबढ़ीसंख्यामेंश्रद्धालुभागलेतेहैं।प्राचीनमांशीतलादेवीमंदिरमेंभीपूजाकेलिएसुबहसेहीश्रद्धालुपहुंचनाशुरूहोगए।हाथमेंजलकाबर्तनवपूजनसामग्रीलेकरपहुंचेश्रद्धालुदेवीमांकीजय-जयकारकररहेथे।यहांभीप्रतिदिनसामूहिकरूपसेयज्ञकाआयोजनहोताहै।कस्बाईइलाकोंमेंमंदिरोंमेंभीड़रहीऔरदिनभरकार्यक्रमचलतेरहे।

देवीकीप्रतिमास्थापित

ठंडीसड़कपरपथवारीमंदिरकेपासमांदुर्गाकीप्रतिमाकीस्थापनाकीगईतथाएकबड़ापंडालबनायागयाहै।जिसमेंश्रद्धालुपूजाअर्चनाकेलिएपहुंचरहेहैं।यहांमाताकीपालकीभीनिकालीगई।पीपलअड्डापरश्रद्धालुओंनेपुष्पवर्षाकी।इसमौकेपरशुभमसक्सेना,शिवमउपाध्याय,सागरगुप्ता,विकासवर्मा,शुभमठाकुर,आकाशप्रजापतिआदिमौजूदरहे।