नयीदिल्ली,13जुलाई(भाषा)उच्चतमन्यायालयनेऐतिहासिकश्रीपद्मनाभस्वामीमंदिरकीसंपदाऔरप्रबंधनअपनेहाथमेंलेनेकेलियेएकन्यासगठितकरनेकाकेरलसरकारकोआदेशदेनेसंबंधीउच्चन्यायालयका2011काफैसलासोमवारकोनिरस्तकरदिया।शीर्षअदालतनेश्रीपद्मनाभस्वामीमंदिरकेप्रशासनमेंत्रावणकोरराजघरानेकेअधिकारबरकराररखेहैं।श्रीपद्मनाभस्वामीमंदिरकोदेशकेसबसेधनीऔरप्रसिद्धमंदिरोंमेंगिनाजाताहै।न्यायमूर्तियूयूललितकीअध्यक्षतावालीपीठनेकहाकिअंतरिमउपायकेरूपमेंमंदिरकेमामलोंकेप्रबंधनवालीप्रशासनिकसमितिकीअध्यक्षतातिरुवनंतपुरमकेजिलान्यायाधीशकरेंगे।शीर्षअदालतनेइसमामलेमेंउच्चन्यायालयके31जनवरी,2011केफैसलेकोचुनौतीदेनेवालीयाचिकाओंपरयहफैसलासुनाया।इसफैसलेकोचुनौतीदेनेवालोंमेंत्रावणकोरराजघरानेकेकानूनीप्रतिनिधियोंभीशामिलथे।शीर्षअदालतनेउच्चन्यायालयकेफैसलेकेखिलाफदायरयाचिकाओंपरपिछलेसाल10अप्रैलकोसुनवाईपूरीकरतेहुयेकहाथाकिइसपरनिर्णयबादमेंसुनायाजायेगा।इसभव्यमंदिरकापुनर्निर्माण18वींसदीमेंइसकेमौजूदास्वरूपमेंत्रावणकोरशाहीपरिवारनेकरायाथा,जिन्होंने1947मेंभारतीयसंघमेंविलयसेपहलेदक्षिणीकेरलऔरउससेलगेतमिलनाडुकेकुछभागोंपरशासनकियाथा।शीर्षअदालतनेयहफैसलासुनातेहुयेकहाकित्रावणकोरराजपरिवारकेपूर्वशासककीमृत्युहोजानेसेराजघरानेकेअंतिमशासककेभाईमार्तंडवर्माऔरउनकेकानूनवारिसोंकेसेवायतकेअधिकार(पुजारीकेरूपमेंदेवताकीसेवाकरनेऔरमंदिरकाप्रबंधनकरनेकाअधिकार)परकोईप्रभावनहींपड़ताहै।शीर्षअदालतनेकहाकिशाहीपरिवारकेअंतिमशासककीमृत्युराज्यसरकारकोसमितिकेप्रबंधनअपनेहाथमेंलेनेकाअधिकारनहींदेतीहैक्योंकिइसमामलेमेंसंपदाराज्यकोवापसमिलनेसंबंधीकानूनलागूनहींहोताहैऔरमंदिरकाप्रबंधनत्रावणकोरकेराजपरिवारकेन्यासमेंहीबनारहेगा।मंदिरकेमामलोंकेप्रबंधनकेलिएएकअंतरिमव्यवस्थाकरतेहुएन्यायालयनेकहाकियहनईसमितिकागठनहोनेतकजारीरहेगीऔरइससमितिकेसभीसदस्यहिन्दूहोनेचाहिए।इसऐतिहासिकमंदिरकेप्रशासनऔरप्रबंधनकाविवादकथितवित्तीयअनियमितताओंकेआरोपोंकेमद्देनजरपिछलेनौवर्षोंसेशीर्षअदालतमेंलंबितथा।भारतकीआजादीकेबादभीपूर्ववर्तीशाहीपरिवारकेनियंत्रणवालान्यासहीइसमंदिरकासंचालनकरताथा।गौरतलबहैकिउच्चन्यायालयनेराज्यसरकारकोमंदिर,उसकीसंपत्तिऔरप्रबंधनपरनियंत्रणरखनेऔरपरंपराओंकेअनुसारमंदिरकोसंचालितकरनेकेलिएएकनिकाययाट्रस्टकीस्थापनाकेलिएकदमउठानेकानिर्देशदियाथा।उच्चतमन्यायालयने2मई,2011कोमंदिरकीसंपत्तिऔरप्रबंधनकोसंभालनेकेसंबंधमेंउच्चन्यायालयकेनिर्देशपररोकलगादीथी।साथहीशीर्षअदालतनेइसमंदिरकेतहखानोंमेंरखीकीमतीवस्तुओंऔरआभूषणोंआदिकाविवरणतैयारकरनेकानिर्देशदियाथा।हालांकि,आठजुलाई,2011कोन्यायलयनेकहाथाकिमंदिरकेतहखानेके‘बी’द्वारकोखोलनेकीप्रक्रियाउसकेअलगेआदेशतकविलंबितरहेगी।न्यायालयनेजुलाई,2017कोकहाथाकिवहइसदावेकीजांचकरेगाकिमंदिरकेतहखानेकेएकदरवाजेकेभीतररहस्यात्मकऊर्जाकेसाथअभूतपूर्वखजानारखाहै।हालांकिइसमामलेमेंन्यायमित्रकीभूमिकानिभानेवालेवरिष्ठअधिवक्तागोपालसुब्रमणियमनेन्यायालयसेअनुरोधकियाथाकितहखानेकेइसदरवाजेकोभीखोलाजानाचाहिए।