गोपालगंज।प्रधानमंत्रीग्रामसड़कयोजनाकीशुरुआतइसउद्देश्यसेकीगईकिगांवोंकीसड़केंठीक-ठाकहोजाएगी।योजनापरअमलभीहुआ,लेकिनइसयोजनाकीकछुएकीचालराहगीरोंपरभारीपड़रहीहै।करीबपांचसालकीअवधिबीतनेकेबादभीजिलेकीतीनसड़कोंकानिर्माणकार्यअधूराहै।अगरकहींसड़केंबनकरतैयारभीहैंतोउनकीमरम्मतनिर्धारितमापदंडकेअनुसारनहींकीगई।ऐसेमेंबननेकेकुछसमयबादसड़कोंकेउखड़नेकासिलसिलाशुरूहोगया।सड़कनिर्माणमेंकोताहीकोलेकरनिर्माणकार्यमेंलगीएजेंसीकईबारप्रशासनिकस्तरपरफटकारभीमिली,लेकिनस्थितिआजभीजसकीतसबनीहुईहै।

विभागीयआंकड़ेबतातेहैंकिजिलेमेंप्रधानमंत्रीग्रामसड़कयोजनाकेतहतकरीबछहसालपूर्वकुल36सड़कोंकानिर्माणकार्यप्रारंभकियागयाथा।इनमेंसेतीनसड़कोंकानिर्माणकार्यअबभीअधूराहै।इनसड़कोंमेंदोकिलोमीटरसेलेकर12किलोमीटरलंबीसड़केंशामिलहैं।आलमयहकिपूर्वमेंभीनिर्मितकीगईकईसड़कोंकीमेंटनेंसपालिसीपूरीतरहसेध्वस्तनजरआतीहै।अगरकहींपूर्वमेंनिर्मितसड़ककीमरम्मतहुईभीतोचंददिनोंकेबादहीसड़कफिरउखड़नेलगी।ग्रामीणस्तरपरखराबसड़कोंकोलेकरशिकायतेंभीदर्जकराईगई।लेकिननतीजासिफरहीरहाहै।वर्तमानसमयमेंग्रामीणइलाकोंमेंस्थितआधादर्जनक्षतिग्रस्तसड़केंइसबातकापुख्ताप्रमाणहैं।

बनीवउखड़गईसड़कें

प्रधानमंत्रीसड़कयोजनाकेतहतसड़कोंकानिर्माणकार्यहुआ,लेकिनबननेकेसाथयहउखड़नेभीलगीहैं।पूरेजिलेमेंऐसीसड़कोंकीसंख्यातीनहै,जहांकीसड़कनिर्माणकेसाथहीउखड़चुकीहै।इससड़कपरसरकारकीमेंटेनेंसपॉलिसीपूरीतरहसेफ्लापनजरआरहीहै।पंचदेवरी,भोरेवसिधवलियाप्रखंडमेंपथलंबित

प्रधानमंत्रीसड़कयोजनाकेतहतबननेवालीसड़ककानिर्माणपंचदेवरी,भोरेवसिधवलियाप्रखंडमेंअधूराहै।यहस्थितितबहै,जबकिइसकेनिर्माणकेलिएनिर्धारितसमयसीमासमाप्तहोचुकीहै।अबभीकार्यएजेंसीयहबतानेकीस्थितिमेंनहींहैकिइनसड़कोंकानिर्माणकार्यकबतकपूर्णकियाजाएगा।